Daesh News

नए बहाल हुए शिक्षकों को विभाग का अल्टीमेटम जारी, 30 नवंबर तक जॉइन नहीं करने पर जाएगी नौकरी

बिहार में पहले चरण के शिक्षक भर्ती में चयनित 20,000 नवनियुक्त शिक्षकों को शिक्षा विभाग के अवर मुख्य सचिव केके पाठक ने नोटिस दिया है. सभी शिक्षकों को 30 नवंबर तक हर हाल में विद्यालय में योगदान कर लेने का निर्देश दिया गया है. ऐसा नहीं करने वाले नवनियुक्त शिक्षकों का औपबंधिक नियुक्ति पत्र रद्द कर दिया जाएगा. बिहार सरकार के शिक्षा विभाग ने बीपीएससी शिक्षक बहाली फेज वन के नवनियुक्त शिक्षकों को कल तक का आखिरी अल्टीमेटम दिया है.

30 नवंबर शाम 5 बजे तक करना है योगदान

यह अल्टीमेटम उन नवनियुक्त शिक्षकों को दिया गया है, जिन्होंने अब तक अपने विद्यालय में योगदान नहीं दिया है. शिक्षा विभाग के माध्यमिक शिक्षा निदेशक कन्हैया प्रसाद श्रीवास्तव के हस्ताक्षर से जारी पत्र में इन शिक्षकों को 30 नवंबर शाम 5:00 बजे तक अपने विद्यालय में हर हाल में योगदान कर लेने को कहा गया है. विभाग ने कहा है कि जो शिक्षक 30 नवंबर तक विद्यालयों में योगदान नहीं देंगे उन्हें दोबारा विद्यालय में योगदान करने का मौका नहीं दिया जाएगा.

यह निर्देश फ्रेश चयनित शिक्षकों के लिए

इस निर्देश में यह स्पष्ट है कि जो पूर्व से केंद्र या राज्य के किसी सरकारी सेवा में नहीं है. उन अभ्यार्थियों के लिए यह निर्देश है, जो राज्य सरकार अथवा केंद्र सरकार की किसी अन्य सरकारी नौकरी में पूर्व से हैं और बीपीएससी पास करके शिक्षक बने हैं. उनके लिए अभी और भी मौके हैं. सरकारी सेवा के अभ्यर्थियों को रिलीविंग लेटर मिलने में दिक्कत हो रही है. इस वजह से उनके पास अभी 7 दिसंबर तक का मौका है. इसमें काफी अधिक बिहार सरकार के नियोजित शिक्षक है जो अभी रिलीज नहीं हुए हैं.

30 के बाद नहीं लिया जाएगा योगदान

शिक्षा विभाग ने अपने निर्देश में कहा है कि यह सूचित किया जाता है कि विद्यालय में योगदान की प्रक्रिया अनवरत नहीं चलती रहेगी और एक तय तिथि तक यह समाप्त कर दी जायेगी. नोटिस में कहा गया है कि संबंधित विद्यालय अध्यापकों को सूचित किया जाता है कि वैसे विद्यालय अध्यापक, जो पूर्व में किसी भी सरकारी नौकरी में नहीं थे, वे 30 नवम्बर, 2023 शाम 5:00 बजे तक अपने विद्यालय में योगदान कर लें. अन्यथा उनका योगदान विद्यालय में स्वीकृत नहीं किया जाएगा और यह माना जाएगा कि वे विद्यालय अध्यापक बनने के इच्छुक नहीं है.

80 हजार शिक्षकों ने ही दिया है योगदान

आपको बता दे की बिहार लोक सेवा आयोग से चयनित 1.22 लाख उत्तीर्ण अभ्यर्थियों में शिक्षा विभाग ने 1 लाख 10 हजार नवनियुक्त शिक्षकों को औपबंधिक नियुक्ति पत्र बांटा. शिक्षा विभाग के आधिकारिक सूत्रों से मिली गोपनीय रिपोर्ट के मुताबिक इसमें से 80 हजार नवनियुक्त शिक्षक ने योगदान दिया है और 30 हजार नवनियुक्त शिक्षक शनिवार तक योगदान नहीं किए हुए हैं, इसमें लगभग 10000 के करीब नियोजित शिक्षक भी शामिल है.