Daesh News

बांका में 6 डिग्री तो कांके में 3 डिग्री का टॉर्चर, 21 दिसंबर से बदलेगा मौसम का रुख

देश के पहाड़ी इलाकों में इन दिनों अच्छी-खासी बर्फबारी देखने के लिए मिल रही है. जिसका असर अब बिहार और झारखंड में भी देखा जा सकता है. इन दोनों राज्यों में मौसम का रुख धीरे-धीरे बदलता जा रहा है. नतीजन, अब ठंड सताने लगी है. जिससे लोगों का जनजीवन प्रभावित हो रहा है. इस बीच आपको बता दें कि, बिहार के बांका जिले में 6 डिग्री सेल्सियस तक तापमान दर्ज किया गया तो वहीं झारखंड के कांके में लोगों को 3 डिग्री तक के तापमान का टॉर्चर सहना पड़ा. वहीं, अब 21 दिसंबर के बाद से मौसम में परिवर्तन का पू्र्वानुमान जताया गया है.

बांका में 6 डिग्री तक लुढका तापमान

बात कर लें बिहार के जिले की तो बांका में न्यूनतम तापमान लुढक कर 6 डिग्री सेल्सियस, गया में 6.1 डिग्री सेल्सियस, भागलपुर के सबौर में 6.4 डिग्री, नवादा में 7.2 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया. इन जिलों के न्यूनतम तापमान ये बताने के लिए काफी हैं कि बिहार में ठंड का साम्राज्य पूरी तरह से पसर गया है. पछुआ हवाओं ने माहौल को काफी ठंडा बना रखा है. हालांकि, इस दफे वैज्ञानिकों ने ठंड के कहर बरपाने की आशंका को खारिज कर दिया है. 

पटना मौसम विज्ञान केंद्र का पूर्वानुमान

पटना मौसम विज्ञान केंद्र की माने तो, 'पिछले 24 घंटों में राज्य का मौसम शुष्क रहा. राज्य का औसत अधिकतम तापमान 24.1 डिग्री सेल्सियस और औसत न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस रहा. राज्य में पछुआ हवा का प्रवाह जारी है. वहीं, बात कर लें अगले 24 घंटों की तो इस दौरान राज्य का मौसम शुष्क रहेगा. अधिकतम और न्यूनतम तापमान में किसी विशेष परिवर्तन का पूर्वानुमान नहीं है. हल्के से मध्यम स्तर का कुहासा सुबह के समय बिहार के अधिकांश भागों के एक या दो स्थानों में छाए रहने की संभावना है.

कांके में 3.5 डिग्री तक गिरा तापमान 

बता दें कि, कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में हो रही बर्फबारी का असर झारखंड में भी दिख रहा है. झारखंड के कई हिस्सों में शीत लहर चल रही है. स्थिति यह हो गयी है कि जम्मू और शिमला जैसे ठंडे प्रदेश से भी अधिक ठंड कांके में पड़ रही है. मंगलवार को शिमला का न्यूनतम तापमान 6.4 डिग्री सेल्सियस और जम्मू का न्यूनतम तापमान 5.7 रिकार्ड किया गया, जबकि झारखंड के कांके क्षेत्र का मंगलवार को न्यूनतम तापमान 3.5 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है. वहीं, रांची का न्यूनतम तापमान एक बार फिर गिर गया है.