Daesh News

30 सितम्बर को 69वीं BPSC की पीटी परीक्षा, इन सभी बातों का रखना होगा ध्यान

BPSC की एकीकृत 69वीं संयुक्त प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा 30 सितम्बर को होने वाली है. यह परीक्षा बिहार के 31 जिला मुख्यालयों के 480 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित की जाएगी. यह एक पाली में दोपहर 12 बजे से दोपहर 2 बजे तक आयोजित होगी. इसे लेकर बीपीएससी के सचिव रविभूषण और उपसचिव कुंदन कुमार ने बताया कि, परीक्षा से 45 मिनट पहले अभ्यर्थियों को ओएमआर शीट मिलेगी, जो इससे पहले वाली परीक्षाओं में 30 मिनट पहले मिलती थी. साथ ही इस परीक्षा के दौरान हर केंद्र पर जैमर लगाये जायेंगे. जानकारी के मुताबिक, परीक्षा के लिए 2,70,412 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है. वहीं, बात करें राजधानी पटना की तो जिले में कुल 35 परीक्षा केंद्र बनाये गये हैं, जिनमें कुल 20,980 अभ्यर्थियों के लिए बैठने की व्यवस्था की गई है.

वहीं, परीक्षा में शामिल होने से पहले अभ्यर्थियों को कई बातों का ध्यान रखने की जरूरत है. जो इस प्रकार है.... 

* परीक्षार्थियों को सुबह 10 बजे से केंद्र में प्रवेश दिया जायेगा और दोपहर 11 बजे केंद्र में प्रवेश बंद कर दिया जायेगा. 

* ई-एडमिट कार्ड और आधार कार्ड का आपस में मिलान किया जायेगा. इसके बाद ई-एडमिट कार्ड का बारकोड स्कैन किया जायेगा. फोटोग्राफ का मिलान करने के बाद केंद्र में प्रवेश दिया जायेगा.

* अभ्यर्थियों का सामान (बैग) प्रवेश द्वार के नजदीक किसी कमरे में बंद कर रखा जायेगा. यदि किसी अभ्यर्थी के पास मोबाइल फोन है, तो उसे स्विच ऑफ कराकर रखवाया जायेगा.

* प्रत्येक परीक्षा कक्ष और प्रवेश द्वार पर सीसीटीवी कैमरा लगाया जायेगा, जिसकी मॉनिटरिंग जिला मुख्यालय और आयोग के मुख्यालय के कंट्रोल रूम से होगी.

* बायोमेट्रिक अटेंडेंस और फेसियल रिकॉग्निशन की व्यवस्था भी की गयी है. 

* सील स्टील बॉक्स में प्रश्न पत्र और ओएमआर शीट कंट्रोल रूम में सीसीटीवी की निगरानी में परीक्षा केंद्र के निर्धारित परीक्षा कक्ष में रखा जायेगा. इसको प्रतिनियुक्त पदाधिकारियों व केन्द्राधीक्षक की उपस्थिति में वीडियोग्राफी कराते हुए अभ्यर्थियों के सामने खोला जायेगा.

* परीक्षा समाप्ति के बाद अभ्यर्थी के सामने ही उनकी ओएमआर शीट परीक्षा कक्ष में सील की जायेगी. इसके बाद ही अभ्यर्थियों को परीक्षा कक्ष छोड़ने की अनुमति दी जायेगी.

* व्हाइटनर, इरेजर या ब्लेड के इस्तेमाल पर रोक रहेगी. इनके इस्तेमाल से यदि ओएमआर शीट पर कहीं बिंदु भी बना तो प्रश्न का एक से अधिक उत्तर दिया मानकर जांच करने वाला कंप्यूटर उसे गलत मान लेगा और उस प्रश्न के लिए निगेटिव मार्किंग हो जायेगी.

* किसी भी तरह का अफवाह उड़ाने वालेअभ्यर्थी को बीपीएससी पांच साल के लिए आयोग में होने वाले परीक्षाओं में शामिल होने से प्रतिबंधित कर देगा.

बता दें कि, इसके लिए 70 मजिस्ट्रेट और 400 पुलिस बल की तैनाती की गयी है. परीक्षा केंद्रों के आस-पास धारा-144 लागू रहेगी. परीक्षा की निगरानी के लिए जोनल मजिस्ट्रेट के अलावा स्टैटिक मजिस्ट्रेट तैनात किए गये हैं. जिला नियंत्रण कक्ष में अतिरिक्त मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है.