Daesh News

छोटे भाई के जरिए सिपाही ने अपनी पत्नी की करवा दी हत्या, पुलिस जांच में खुलासा

SAHARSA:-चर्चित पुलिस केंद्र में सिपाही की पत्नी हत्याकांड का सहरसा पुलिस ने किया  उद्भेदन कर लिया है.हत्या में शामिल हत्यारा देवर सहित साजिशकर्ता सिपाही पति भी गिरफ्तार किया है.

दरअसल 1जून को पुलिस केंद्र स्थित सरकारी आवास से संदिग्ध स्थिति में वर्षा कुमारी नामक सिपाही की पत्नी का शव संदिग्ध स्थिति में बरामद हुआ। सूचना पर घटनास्थल पहुंचकर एसपी सहित अन्य पुलिस पदाधिकारी घटना की तफ्तीश में जुट गई। एसपी ने इसे चैलेंज के रूप लेते हुए एसआईटी की पांच टीम गठित किया जो अलग अलग एंगल से काम करना शुरू किया। इसी कड़ी में जब पुलिस ने शहर में लगे CCTV कैमरा खंगालना शुरू किया तो एक संदिग्ध को देखकर उसपर काम करना शुरू किया।देर रात सहरसा बाजार में भ्रमण करने वाला जो मृतिका का देवर और सिपाही का भाई निकला ।

पुलिस ने जब मृतिका के पति सिपाही मिलन कुमार से भाई का तस्वीर दिखा कर पूछताछ किया तो हत्या की कड़ी खुद ब खुद खुल गई जो चौकाने वाली थी। तत्काल पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए मृतिका वर्षा कुमारी का साजिशकर्ता सिपाही पति मिलन कुमार व हत्यारा देवर को गिरफ्तार कर लिया। एसपी हिमांशु ने घटना का खुलासा करते हुए कहा कि हत्या को लेकर तुरंत S.I.T टीम का गठन किया,टीम का नेतृत्व एसडीपीओ सदर,मुख्यालय डीएसपी..1और 2 सहित जिले के वरीय पदाधिकारी अलग अलग टीम का काम कर रहे थे,एक टीम सीसीटीवी फुटेज देखने के लिए बनाई गई थी और वर्षा कुमारी जो मृतक है उन्हे रात के 9 बजे तक अगल बगल लोगों के द्वारा देखा गया था,तीन बजे से पुलिस लाइन के लोग ड्यूटी पर जाने लगते है तो हमे लगा कि ये जो घटना हुई है ये 10 बजे रात के बाद और 3 बजे सुबह से पहले की है,इसी हिसाब से शहर के सीसीटीवी फुटेज देखना शुरू किए ,इस दौरान हमे कुछ संदिग्ध लोग दिखे,संदिग्ध लोगों में जब हमने गहन अनुसंधान किया तो पाया कि उसमे से एक सिपाही मिलन कुमार का भाई सुमित कुमार है जो कि भागलपुर जिला के रंगरा थाना क्षेत्र का रहनेवाला है,जब मिलन कुमार से ये सब चीज पूछा गया कि आपका भाई रात में सहरसा जिला में क्या कर रहा था तो उसने इस बात को स्वीकार कि चूंकि घरेलू विवाद काफी ज्यादा चल रहा था अपनी पत्नी से इसलिए उसे शक रहता था कि उसके अवैध संबंध हो सकते है इसी शक पर उसने अपनी पत्नी का मर्डर करके रेप की तरह दिखाने का एक प्लानिंग रचा और अपने भाई को इस कांड में संलिप्त किया,इसने यह भी सोचा था कि चुनाव ड्यूटी में कैमूर में है तो मुझ पर किसी का शक नही जाएगा और हम बच जायेंगे,हमारी टीम ने वैज्ञानिक अनुसंधान करके,फोरेंसिक टीम को बुलाकर जांच करवाई, हमलोगो के पास पर्याप्त वैज्ञानिक और बायोलॉजिकल साक्ष्य है ताकि इस दोनो भाइयों को सजा मिल सके।इस घटना में सिपाही मिलन कुमार और सुमित कुमार की गिरफ्तारी हुई है,सारे साक्ष्य को हमलोग अनुसंधान में लाएंगे।

 सहरसा से नीरज कुमार की रिपोर्ट

Scan and join

Description of image