Daesh News

इजराइल-हमास युद्ध को लेकर बना खौफनाक मंजर, भारत से किसको मिल रहा समर्थन ?

तेज धमाकों की आवाज, फिजाओं में घुली बारूद की गंध, खतरे का इशारा करते सायरनों का शोर, चारों ओर मची चीख-पुकार, ताश के पत्तों की तरह भराभराकर गिरती बिल्डिंग्स, जान बचाकर भागती महिलाएं और बच्चे... ये मंजर है गाजा पट्टी का. जहां इजराइल की ओर से भारी बमबारी की जा रही है. वहीं हमास भी लगातार इजरायल पर हमले कर रहा है. इजराइल और हमास के बीच युद्ध शुरू होने के बाद से आम नागरिकों को इसका सबसे बड़ा नुकसान उठाना पड़ रहा है. इजरायली हवाई हमले में फिलिस्तीनी परिवार का घर बर्बाद हो गया. 

इजराइल-हमास युद्ध में 1300 की गई जान 

जानकारी के मुताबिक, इजराइल और हमास के बीच शुरू हुए युद्ध में अब तक लगभग 1300 लोगों की जान जा चुकी है और 2000 से ज्यादा लोग घायल हो चुके हैं. साउथ गाजा पट्टी के राफा में अबू हेलाल के फिलिस्तीनी परिवार के घर पर इजराइली हवाई हमले में बच्चों और महिलाओं सहित कम से कम 14 फिलिस्तीनियों की मौत हो गई है. इजराइली फाइटर प्लेन ने साउथ गाजा पट्टी के राफा में एक फिलिस्तीनी घर को मिसाइलों से निशाना बनाया और उसे पूरी तरह से नष्ट कर दिया.

गाजा सीमा पर लड़ाई जारी 

गाजा सीमा पर अभी भी हमास के साथ छह जगहों पर लड़ाई चल रही है. इजरायल डिफेंस फोर्स के प्रवक्ता रियर एडमिरल डेनियल हगारी के मुताबिक, रविवार की रात करीब 70 आतंकवादियों ने बेरी में घुसपैठ की कोशिश की, उनमें से अधिकांश सैनिकों के साथ लड़ाई में मारे गए. उन्होंने कहा कि बॉर्डर पर अन्य शहरों में भी आतंकी देखे गए. आईडीएफ ने हमलों में 1148 लक्ष्यों को टारगेट किया है. इजरायली सेना के मुताबिक, उसने रविवार रात गाजा पट्टी में 500 से अधिक हमास और इस्लामिक जिहाद के ठिकानों पर हमला किया है. इजरायल एयरफोर्स ने ट्वीट कर बताया कि जिस बिल्डिंग में आतंकवादी संगठन हमास के संचालक रह रहे थे, उस बिल्डिंग पर हमला किया. उसी समय, हमास के कई ऑपरेशनल मुख्यालयों पर हमला किया गया, उनमें से तीन मंजिला मुख्यालय और सीनियर हमास नौसैनिक बल, मुहम्मद काश्ता से जुड़ा मुख्यालय था.  

भारत के बारे में इजरायल ने क्या कहा ?

इजरायली राजदूत गिलोन ने कहा कि, 'हमारे देश को हमारे भारतीय मित्रों के बहुत मजबूत समर्थन की आवश्यकता होगी. भारत दुनिया में एक बहुत प्रभावशाली देश है. यह आतंकवाद की चुनौती को समझता है और इस संकट को भी भलीभांति जानता है. इस समय यह बेहद जरूरी है कि हमें वो सब करने की क्षमता दी जाए जिससे हमास अपना अत्याचार जारी नहीं रख पाए.' गिलोन ने कहा कि, भारत के पास आतंकवाद की गहरी समझ है और वो आतंकवाद को लेकर अनजान नहीं है. उन्होंने कहा, 'हमें भारत से भारी समर्थन मिला है. हम उम्मीद करते हैं कि दुनिया के सभी देश सैकड़ों इजरायली नागरिकों, महिलाओं, पुरुषों, बुजुर्गों और बच्चों की अकारण हत्या और अपहरण की निंदा करेंगे. यह अस्वीकार्य है.'