Daesh News

ICC World Cup 2023 : भारत के 12 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़कर अफगानिस्तान ने रचा इतिहास

इस वर्ल्ड कप में अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के स्पिनर्स ने इतिहास रचा है और टीम इंडिया के 12 साल पुराने रिकॉर्ड को ध्वस्त किया है. अफगानिस्तान टीम के स्पिनर्स ने वर्ल्ड कप के एक एडिशन में सबसे ज्यादा ओवर फेंकने का विश्व रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है. इससे पहले यह रिकॉर्ड भारतीय टीम के नाम था. वर्तमान में भारत में खेले जा रहे वर्ल्ड कप में अफगान स्पिनर्स ने कुल 268.5 ओवर गेंदबाजी की है और इस तरह टीम इंडिया के 12 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ दिया है. 

भारतीय स्पिनर्स ने 2011 वर्ल्ड कप के दौरान कुल 251 ओवर गेंदबाजी की थी. वहीं मौजूदा वर्ल्ड कप की बात करें तो अफगानिस्तान के अलावा किसी अन्य टीम के स्पिनर्स ने 200 ओवर भी नहीं फेंके हैं. साउथ अफ्रीका के खिलाफ मैच से अफगानिस्तान ने अपने शानदार वर्ल्ड कप अभियान का अंत किया, हालांकि ये अंत हार के साथ ही हुआ. 9 में से 4 मैच जीतकर टीम 8 अंकों के साथ 6ठे पायदान पर रही. 

एक नजर उन टीमों पर, जिनके स्पिनर्स ने एक वर्ल्ड कप एडिशन में सबसे ज्यादा ओवर फेंके हैं - 

1. अफगानिस्तान - 268.5 ओवर (वर्ल्ड कप 2023) 

2. भारत - 251 ओवर (वर्ल्ड कप 2011) 

3. श्रीलंका - 233.1 ओवर (वर्ल्ड कप 2003) 

4. अफगानिस्तान - 223.2 ओवर (वर्ल्ड कप 2019) 


वहीं एक और रिकॉर्ड अफगानिस्तान की टीम के नाम दर्ज हो गया है. वर्ल्ड कप के इतिहास में एक पारी में 40 ओवर स्पिनर्स से करवाने वाली अफगानिस्तान पहली टीम बन गई है. जी हां, साउथ अफ्रीका के खिलाफ अफगानिस्तान के स्पिनर्स ने 40 ओवर गेंदबाजी की और विश्व रिकॉर्ड बना दिया. इससे पहले यह रिकॉर्ड UAE टीम के नाम था, जिसने न्यूजीलैंड के खिलाफ 1996 वर्ल्ड कप में 39 ओवर स्पिनर्स से करवाए थे. 

एक नजर लिस्ट पर - 

1. अफगानिस्तान - 40 ओवर - साउथ अफ्रीका के विरुद्ध , अहमदाबाद (वर्ल्ड कप 2023) 

2. UAE - 39 ओवर - न्यूजीलैंड के विरुद्ध , फैसलाबाद  (वर्ल्ड कप 1996) 

3. जिम्बाब्वे - 39 ओवर - ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध (वर्ल्ड कप 2011) 

अफगानिस्तान बनाम साउथ अफ्रीका मुकाबले की बात करें तो टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी अफगानिस्तान की टीम ने निर्धारित 50 ओवर में 244 रन बनाए , साउथ अफ्रीका ने 47.3 ओवर में 5 विकेट रहते लक्ष्य को हासिल कर लिया. एक समय तो अफगान स्पिनर्स ने मैच पर शिकंजा कस लिया था लेकिन अफ़्रीकी टीम ने अपने अनुभव को झोंकते हुए जीत दर्ज की. साउथ अफ्रीका के लिए रासी वेन डूर डूसेन ने नाबाद 76 रन बनाए और टीम की जीत में अहम योगदान दिया.