Daesh News

अयोध्या में बना अद्भुत रिकॉर्ड, 22 लाख 23 हजार दीप जलाकर गिनीज बुक में दर्ज किया नाम

पूरे देश भर में बड़े धूमधाम से दीपावली का त्योहार मनाया जा रहा है. ऐसे में मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की नगरी अयोध्या ने एक नया अद्भुत विश्व रिकॉर्ड बना डाला है. दरअसल, अयोध्या में छोटी दीपावली के अवसर पर 22 लाख 23 हजार दिये जलाये गए, जिसके बाद एक बार फिर से अयोध्या का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज हो गया है. पिछले साल 2022 में प्रज्ज्वलित 15.76 लाख दीपों से इस बार यह संख्या लगभग छह लाख 47 हजार अधिक रही. ड्रोन के जरिये जलाये गए दीपों की गणना की गई. जिसके कई फोटोज भी सामने आये हैं. तस्वीरें देख आपको प्रतीत होगा मानो आकाश गंगा ही धरती पर उतर आई हो. 

विश्व कीर्तिमान का दर्जा दिया गया 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अयोध्या के प्रति प्रतिबद्धता ने एक बार फिर इस प्राचीन नगरी को वैश्विक रिकॉर्ड सूची में दर्ज कराया है. गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के प्रतिनिधियों ने उत्तर प्रदेश सरकार के इस 'भव्य दीपोत्सव' को देखा और अंततः एक साथ एक स्थान पर इतनी बड़ी संख्या में दीप प्रज्ज्वलन को विश्व कीर्तिमान का दर्जा दिया. वहीं, हम आपको यह भी बता दें कि, इस कीर्तिमान को रचने में आखिर किसकी अहम भूमिका रही. तो इसमें राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय व इससे जुड़े महाविद्यालयों के शिक्षक, इंटर कॉलेजों के शिक्षक व छात्रों, स्वयंसेवी संस्थाओं की बड़ी भूमिका रही.

'जय श्री राम' से गुंजायमान हुई अयोध्या 

बता दें कि, दीप प्रज्ज्वलन का नियत समय शुरू होते ही 'श्री राम जय राम जय जय राम' के जाप के साथ एक-एक कर 22 लाख 23 हजार दीप जलाए गए. गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के प्रतिनिधियों द्वारा कीर्तिमान रचने की घोषणा के साथ ही पूरी अयोध्या 'जय श्री राम' के उद्घोष से गुंजायमान हो उठी. आपको यह भी बता दें कि, इससे पहले पिछले साल भी अयोध्या में प्रज्ज्वजन का कीर्तिमान रचा गया था. फिलहाल, अयोध्या में रामलला के भव्य मंदिर के निर्माण के साथ ही उसकी सुरक्षा को लेकर भी तैयारियां जोरों से चल रही हैं. राम मंदिर की अभेद्य सुरक्षा व्यवस्था के लिए आजमगढ़ में कंमाडो तैयार किए जा रहे हैं. आधुनिक हथियार चलाने के साथ ही ये किसी भी तरह की परिस्थितियों से भी निपटने में सक्षम होंगे.