Daesh News

लालू यादव पर बरसे अमित शाह लेकिन नीतीश के लिए क्यों पड़ गए नरम, क्या NDA में हो सकती है वापसी?

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बिहार के दौरे पर हैं.  शनिवार को मिथिलांचल की धरती झंझारपुर की रैली में जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने एक बार फिर ‘इंडिया’ गठबंधन पर निशाना साधा. गृह मंत्री ने आरोप लगाया कि गठबंधन ने अपना पिछला नाम संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन बदल दिया क्योंकि वह बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार से जुड़े नाम के साथ जनता के बीच नहीं जाना चाहता था. अमित शाह ने कहा, “अभी यहां लालू-नीतीश जी की सरकार चल रही है. हर रोज़ बिहार के अंदर गोलीबारी, लूट, अपहरण, पत्रकारों की हत्या, दलितों की हत्या के किस्से बढ़ते जा रहे हैं. रेलवे मंत्री रहते हुए लालू जी ने अरबों का भ्रष्टाचार किया. ये UPA नाम के साथ नहीं आ सकते इसलिए इन्होंने INDIA गठबंधन नाम रखा है, नाम कोई भी बदले यह वहीं लालू प्रसाद यादव है जिसने बिहार को सालों तक पीछे धकेलने का काम किया है.

लालू-नीतीश की तेल और पानी से तुलना

अमित शाह ने लालू यादव और नीतीश कुमार के संबंध को तेल और पानी से तुलना करते हुए कहा कि इनका मिलन संभव नहीं है. नीतीश कुमार पिछले साल जब से बीजेपी से अलग हुए हैं तब से अमित शाह जब भी बिहार की रैलियां में आए हैं उन्होंने साफ कहा है कि नीतीश कुमार के लिए एनडीए में वापसी के दरवाजे बंद हो चुके हैं, मगर शनिवार को पहला ऐसा मौका था जब अमित शाह नीतीश कुमार पर आक्रामक नहीं दिख रहे थे, बल्कि लालू पर ज्यादा आक्रामक रहे. इसी दौरान उन्होंने तेल और पानी की बात कही.

नाम कोई भी बदल लें, ये वही लालू यादव हैं

बिहार दौर पर शनिवार को दरभंगा पहुंचे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लालू यादव और नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि नाम कोई भी बदल लें, ये वही लालू यादव हैं जिन्होंने बिहार में करोड़ों-अरबों रुपये का भ्रष्टाचार किया. शाह ने कहा कि बिहार में फिर से गुंडाराज आ गया है और नीतीश-लालू की जोड़ी तेल और पानी जैसी है. तेल कभी पानी के साथ नहीं मिल सकता लेकिन ये आपको भी मैला कर देगा. मंत्री ने रैली के दौरान कहा, कुछ दिन पहले यहां लालू-नीतीश की सरकार ने फतवा जारी किया था कि राज्य में रक्षाबंधन और जन्माष्टमी की छुट्टी नहीं होगी लेकिन बिहार की जनता ने इसके प्रति जो आक्रोश दिखाया, उससे इनका दिमाग ठिकाने आ गया, इसके लिए मैं बिहार की जनता का हृदय से धन्यवाद करना चाहता हूं.

लालू जी फिर से एक्टिव हो गए हैं और नीतीश जी इनएक्टिव 

गृह मंत्री ने कहा कि मोदी जी ने चंद्रयान और जी 20 के माध्यम से भारत को दुनिया में मजबूत स्थान दिया. जी 20 में मधुबनी पेंटिंग और नालंदा फिर से लोगों के दिमाग पर छा गया. लालू और नीतीश की सरकार में हर रोज अपराध बढ़ रहे हैं. यह स्वार्थी गठबंधन बिहार को फिर से जंगलराज की दिशा में ले जा रहे हैं. लालू जी फिर से एक्टिव हो गए हैं और नीतीश जी इनएक्टिव हो गए हैं. लालू जी जब एक्टिव होते हैं तो आपको पता है कि बिहार में सरकार कैसे चलती है. लालू जी ने रेलवे में मंत्री रहते अरबो-खरबों को भ्रष्टाचार किया. केस चल रहा है. नीतीश जी को मालूम हैं कि देश के लिए यूपीए ने कुछ नहीं किया. इसलिए यूपीए का नाम बदलकर इंडिया करवा दिया. यह वही लालू प्रसाद यादव है जिसने बिहार को सालों पीछे धकेल दिया.

नीतीश कुमार के G20 भोज में शामिल होने के बाद बिहार के राजनीतिक गलियारों में इस बात की चर्चा काफी तेज है कि नीतीश कुमार अब इंडिया गठबंधन में अपनी अनदेखी से नाराज हैं और बीजेपी के साथ वापस आने के रास्ते तलाश रहे हैं. शनिवार को अमित शाह के भाषण ने इस बात को बल दे दिया है कि पूरी संभावना है कि नीतीश एक बार फिर एनडीए का दामन थाम सकते हैं.