Daesh News

गया में अंजान बीमारी से भय का माहौल कायम, 300 लोग हैं बीमार, डॉक्टर भी हैरान-परेशान

बिहार के गया में एक गांव में 300 लोग बीमार हो गए हैं. इन्हें बुखार आता है और फिर महीनों तक जॉइंट पेन होता है. वहीं, इस तरह की सूचना के बाद मेडिकल टीम गांव में पहुंची है. चिकित्सकों की टीम भी हैरान है, कि इतनी तादाद में लोग बीमार क्यों पड़ रहे हैं. फिलहाल, मेडिकल की टीम बीमार लोगों का इलाज करने में जुट गई है. दरअसल, जिले के पटवा टोली में बीमारियों का खौफ लोगों के बीच देखा जा रहा है. पिछले कुछ महीनों से यहां के लोग लगातार बीमार पड़ रहे हैं. बुखार के बाद उन्हें जोड़ों में दर्द की शिकायत हो जा रही है. बुखार-दर्द समेत अन्य तरह की बीमारियों की शिकायत है. इसके बाद गया के सिविल सर्जन रंजन कुमार सिंह ने इस पर संज्ञान लिया और तुरंत मेडिकल टीम को वहां भेजा है. मेडिकल टीम पटवा टोली पहुंची है और बीमार लोगों की जांच कर उन्हें दवाई दी जा रही है.

लोगों ने बताया लंगड़ा बुखार का प्रकोप 

वहीं, लोगों का कहना है, कि हमारे क्षेत्र में लंगड़ा बुखार का प्रकोप हो गया है. लंगड़ा बुखार को लोग काफी परेशान करने वाला मानते हैं. लोगों का कहना है, कि सैकड़ों लोगों को इस प्रकार का बुखार लगातार हो रहा है. यह सिलसिला थम नहीं रहा है, जिससे लोगों में दहशत का भी माहौल कायम है. वहीं, मेडिकल टीम के अनुसार इस तरह का बुखार वायरल बुखार हो सकता है, जो कि मौसम के साथ आता है. हालांकि मेडिकल टीम की माने, तो ऐसे बीमार लोगों की सीबीसी जांच करवा रहे हैं, ताकि बीमारियों का सही-सही पता चल सके.

सरकार तक आवाज पहुंचायेंगे लोग 

वहीं, इस संबंध में पटवा टोली के गोपाल पटवा बताते हैं कि, 200 से अधिक लोग बीमार हैं. उनका इलाज चल रहा है. वे लोग जानना चाहते हैं कि आखिर यह बीमारी क्यों हो रही है और इसका निराकरण क्या है. इसे वे सरकार तक पहुंचाएंगे, क्योंकि यहां बीमारियों को लेकर डर का माहौल कायम हो गया है, क्योंकि पटवा टोली में ही ज्यादातर बुखार और जॉइंट पेन समेत और बीमारियां हो रही है. इस तरह की बीमारी को लोग अज्ञात बीमारी भी मान रहे हैं. कोई लंगड़ा बुखार भी कह रहा है. सिविल सर्जन को इस संबंध में सूचना दी गई है, जिसके बाद मेडिकल टीम आई है. हम लोग चाहते हैं, कि पटवा टोली को बीमारी से मुक्त किया जाए और सभी का सही इलाज हो सके. सैकड़ों की संख्या में लोगों के बीमार होने से इस गांव के लोगों में तरह-तरह की चर्चाएं भी हो रही है.

डेंगू-चिकनगुनिया के मिल रहे हैं लक्षण 

वहीं, मेडिकल टीम के डॉक्टरों ने बताया कि, पटवा टोली सोसाइटी में काफी संख्या में लोगों के बीमार होने की सूचना मिली. जिसके बाद मेडिकल की टीम पहुंची है. डेंगू-चिकनगुनिया के लक्षण लोगों में मिले हैं. जोड़ों में दर्द की शिकायत है. पाया गया है कि, वायरल बुखार इन्हें एक-दो दिन रहता है, फिर इसके बाद दर्द रहता है. जॉइंट में दर्द ज्यादा होता है. डेंगू के लक्षण भी मिले हैं. चिकनगुनिया में दर्द काफी दिनों तक होने की बात मेडिकल साइंस में होती है. वे लोगों से अपील करते हैं कि, पानी का जमाव नहीं रखें. अपने रहने वाले स्थान को साफ-सुथरा रखें. मच्छरों की संख्या में कमी होनी चाहिए और घर में मच्छरदानी का लोग प्रयोग करें. वहीं, दर्द की शिकायत विटामिन, कैल्शियम की कमी से भी हो सकती है. सभी की जांच की जा रही है. वायरल इनफेक्शन के मरीजों को दवा भी दी जा रही है. सीबीसी की जांच करवाई जा रही है. सभी लोगों का सही तरीके से इलाज किया जाएगा. ज्यादातर लोग दर्द या बुखार के मरीज के रूप में सामने आ रहे हैं.

सिविल सर्जन ने क्या कुछ बताया ? 

वहीं, सैकड़ों लोगों के बीमारी से परेशान रहने की सूचना के बाद सिविल सर्जन रंजन कुमार सिंह मौके पर पहुंचे. सिविल सर्जन रंजन कुमार सिंह ने बताया कि, पटवा टोली में काफी संख्या में लोग बीमार हो रहे हैं. इसे लेकर मेडिकल टीम वहां पहुंची है और गंभीरता से काम कर रही है. डेंगू-चिकनगुनिया के लक्षण ज्यादातर लोगों में पाए जा रहे हैं. सीबीसी जांच करवाई जा रही है.

गया से मनीष कुमार की रिपोर्ट