Daesh News

क्या साथ-साथ होने वाले हैं चाचा-भतीजे ? पशुपति पारस ने पीएम के बाद जेपी नड्डा से की मुलाकात

लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी में गजब की हलचल देखने के लिए मिल रही है. इस बीच लोजपा (रामविलास) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान और रालोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस के बीच दूरियां मिटने के कयास लगाए जा रहे हैं. दरअसल, पूर्व केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस ने अपने भतीजे प्रिंस राज के साथ बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से दिल्ली में मुलाकात की है. जिसके बाद से ऐसी चर्चा शुरु हो गई है कि, पशुपति कुमार पारस एक बार फिर से एनडीए में शामिल हो सकते हैं. बता दें कि, पशुपति पारस ने जेपी नड्डा से मुलाकात की तस्वीर को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स के जरिये शेयर किया है. 

पारस ने शेयर की तस्वीर

वहीं, तस्वीर सामने आने के बाद सियासी गलियारे में चर्चा शुरू हो गई है कि इस मुलाकात के दौरान क्या कुछ बातें हुई हैं. बता दें कि, जेपी नड्डा ने तस्वीर शेयर करते हुए एक्स पर लिखा है, "एनडीए में हमारे सहयोगी एवं रालोजपा के प्रमुख पशुपति पारस जी से नई दिल्ली में आवास पर मुलाकात की. एनडीए सदस्य के नाते पशुपति जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में लगातार अच्छे कार्य किए. आने वाले चुनाव में भी हमारा गठबंधन मजबूती से बना रहेगा और उनकी पार्टी बिहार में एनडीए के सभी 40 उम्मीदवारों का पूर्ण समर्थन करेगी. साथ ही उनकी जीत सुनिश्चित करने में हरसंभव सहयोग देगी."

पीएम मोदी से भी की थी मुलाकात

इस बीच याद दिला दें कि, जेपी नड्डा से मिलने से पहले पशुपति कुमार पारस ने 30 मार्च को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात की थी. पशुपति पारस ने उस मुलाकात की भी तस्वीरों के साझा किया था. साथ ही इस दौरान कहा था कि, उनकी पार्टी एनडीए का अभिन्न अंग है. दरअसल, उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर लिखा था कि, "माननीय प्रधानमंत्री आदरणीय श्री नरेंद्र मोदी जी हमारे भी नेता हैं और उनका निर्णय हमारे लिए सर्वोपरि है एवं उनके नेतृत्व में एनडीए पूरे देश में 400+ सीट जीतकर तीसरी बार रिकॉर्ड तोड़ बहुमत से #NDA की सरकार बनेगी." बता दें कि, जब लोकसभा चुनाव को लेकर एनडीए में सीट शेयरिंग हुई और पशुपति पारस को जब कोई सीट नहीं मिली तो उनकी नाराजगी खुलकर सामने आई थी. उन्होंने मंत्री पद से इस्तीफा तक दे दिया. वहीं, अब एक बार फिर से एनडीए में शामिल होने के चर्चे तेज हो गए हैं.