Daesh News

सारण में फिर राजनीतिक वर्चस्व की लड़ाई, जिला परिषद के बेटे का अपहरण, जिप अध्यक्ष का पति नामजद

DESK- लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में सारण मैं राजनीतिक वर्चस्व की लड़ाई में दो पार्टियों के नेताओं के बीच गोलीबारी हुई थी जिसमें एक की मौत हो गई थी.अब उसी सारण जिले में राजनीतिक विवाद में एक जिला परिषद सदस्य के बेटे का अपहरण कर लिया गया है और अपहरण का आरोप जिला परिषद अध्यक्ष के पति और पुत्र पर लगा है, यानी यह मामला अपराधिक के साथ-साथ राजनीतिक भी लग रहा है.

 यह घटना सारण जिले के भगवान बाजार थाना क्षेत्र के कटरा मोहल्ले की है. जिला परिषद सदस्य बबन राय उर्फ हरिवंश प्रसाद यादव के 23 वर्षीय पुत्र विकास कुमार यादव उर्फ सीटू का अपहरण घर से ही किया गया है.

इस मामले में अपहृत युवक विकास उर्फ सीटू की मां कौशल्या देवी के द्वारा बताया गया कि बीती रात में वह लोग खाना खाकर टहल रहे थे, तभी जिला परिषद अध्यक्ष जय मित्रा देवी के पति अमर नाथ यादव और उनके पुत्र कुणाल सहित कुछ अन्य लोग उनके बेटे को अपने साथ लेकर चले गएजय मित्रा देवी के पति अमर नाथ यादव और उनके पुत्र कई लोगों के साथ आए और पूछा कि बबन राय है तो हम लोगों ने बताया कि वह घर पर नहीं है. जिसके बाद में उन लोगों ने विकास के विषय में पूछा और विकास कमरे से बाहर निकाला, वो लोग जबरन उसे पड़कर अपने साथ ले जाने लगे. विकास के विरोध करने पर धक्का-मुक्की कर उसे घर से खींच कर अपने स्कॉर्पियो में बैठा लिया और लेकर चले गए.
विकास की मां के आवेदन पर वर्तमान जिला परिषद अध्यक्ष जय मित्रा देवी के पति अमरनाथ यादव, उनके पुत्र कुणाल कुमार, आनंद कुमार राय, गोविंद राय, छविनाथ सिंह सहित कुल आठ लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की गई है.
. इस मामले में भगवान बाजार थानाध्यक्ष सुभाष कुमार सिंह ने बताया कि बबन राय की पत्नी कौशल्या देवी के बयान पर उनके पुत्र विकास कुमार ऊर्फ सीटू के अपहरण की प्राथमिकी दर्ज की गई है. इसमें वर्तमान जिला परिषद अध्यक्ष के पति समेत कई लोगों को नामांकित किया गया है. पुलिस शिकायत के आधार पर छानबीन में जुट गई है और जल्द ही संबंधित आरोपियों से पूछताछ के बाद आगे की कार्रवाई करेगी.

"

Scan and join

Description of image