Daesh News

बिहार में शीतलहर का बड़ा अलर्ट, अगले तीन दिनों तक बारिश को लेकर पूर्वानुमान

नए साल के आते ही मौसम में बदलाव देखने के लिए मिल रहे हैं. एक तरफ जहां लोगों को ठंड से राहत मिली है तो वहीं दूसरी तरफ शीतलहर को लेकर बड़ा अलर्ट जारी कर दिया गया है. बता दें कि, बिहार के अधिकतर हिस्सों में तीन दिन बाद धूप खिलने के कारण लोगों ने राहत भरी सांस ली है. मौसम विभाग की ओर से 48 घंटे में तापमान में वृद्धि होने की संभावना जताई गई है. लेकिन, इसके बाद शीतलहर की स्थिती भी उत्पन्न हो सकती है. साथ ही दो से तीन दिनों में बारिश के भी आसार जताए गए हैं.     

शीतलहर को लेकर जारी किया पूर्वानुमान

मौसम विभाग की माने तो, जनवरी के लिए देश के मध्य भाग में शीतलहर का पूर्वानुमान व्यक्त किया गया है. जिसका असर बिहार में भी जोर-शोर से देखने के लिए मिल सकता है. जारी किए गए पूर्वानुमान के मुताबिक, अगले तीन दिनों के लिए उत्तर-पश्चिम और पूर्वी भारत के क्षेत्रों में घना कोहरा छाये रहने का अनुमान व्यक्त किया है. जनवरी, फरवरी और मार्च के दौरान सामान्य बारिश का भी अनुमान व्यक्त किया, जिससे गेहूं की बेहतर फसल की उम्मीदें बढ़ गयी हैं. अगले दो दिनों के दौरान पंजाब, हरियाणा, यूपी और उत्तरी राजस्थान के कुछ हिस्सों में कड़ाके की ठंड की स्थिति के जारी रहने का अनुमान है. 

10 डिग्री के आस-पास की रहेगा पारा

हालांकि, मौसम पूर्वानुमान के अनुसार, फिलहाल तीन से चार दिन तक शहर के न्यूनतम तापमान में कोई विशेष अंतर आने की संभावना नहीं है. न्यूनतम पारा 10 डिग्री सेल्सियस के आस-पास ही रहेगा. इसलिए सुबह-शाम और रात में सर्दी से राहत नहीं मिलेगी. लेकिन, दिन में धूप निकलने से लोगों को राहत मिलेगी. शाम के वक्त कोहरा होने के भी आसार हैं. बात करें राजधानी पटना की तो, पिछले दिनों सोमवार को दो दिनों के बाद धूप निकलने से लोगों को सर्दी से थोड़ी राहत मिली. धूप के कारण पटना शहर का अधिकतम तापमान शुक्रवार के मुकाबले 5.4 डिग्री अधिक 18.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. हालांकि, मौसम साफ होने से शाम होते ही एक बार फिर पारा गिरा और कनकनी से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा. न्यूनतम तापमान भी एक डिग्री कम 10.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. 

कुछ ऐसा है बिहार के शहरों का AQI प्रेशर

रिपोर्ट्स की माने तो, शीतलहर के कारण राजधानी पटना की वायु गुणवत्ता में आया सुधार सोमवार को भी बरकरार रहा. एक्यूआई में थोड़ी बढ़ोतरी हुई और इसके बाद भी शहर के प्रदूषण का स्तर मध्यम श्रेणी में ही रहा. शहर का एक्यूआई जहां सोमवार को 197 दर्ज किया गया वहीं रविवार को 153 दर्ज किया गया था. सर्द हवाओं के कारण प्रदेश के अन्य शहरों की वायु गुणवत्ता में आया सुधार भी बना रहा.