Daesh News

लोकसभा चुनाव से पहले सीएम नीतीश को बड़ा झटका, जाने-माने चर्चित नेता ने दिया इस्तीफा

लोकसभा चुनाव 2024 में अब कुछ ही समय रह गया है. ऐसे में बिहार की राजनीति में कई तरह की गतिविधियां देखने के लिए मिल रही है. इस बीच चुनाव से पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू को बड़ा झटका मिल गया है. जेडीयू के जाने-माने नेता और प्रदेश प्रवक्ता सुनील कुमार सिंह ने इस्तीफा दे दिया है. बता दें कि, सुनील कुमार सिंह ने जेडीयू के प्रदेश प्रवक्ता उमेश कुशवाहा को अपना इस्ताफा सौंपा है. बता दें कि, उन्होंने अपने इस्तीफे की जानकारी सोशल मीडिया को माध्यम से दिया है. साथ ही साथ इस्तीफा देने का कारण भी बनाया है. इस्तीफे के जरिये इशारे-इशारे में सवाल भई खड़े कर दिए हैं.    

त्यागपत्र को किया सार्वजनिक

बता दें कि, पत्र के जरिए सुनील कुमार सिंह ने कहा कि, 'आज पूरा भारतवर्ष राममय है. जय श्री राम के उद्घोष से गीत-संगीत से सर्वत्र हर्षोल्लास है. जिनके नाम के जयकारे मात्र से हम भारतवासी स्वयं को धन्य अनुभव कर रहे है. मैं अकिंचन भी उन प्रभु श्री राम के समक्ष नतमस्तक हूं. आज के पावन दिन प्रभु श्री राम जी के आदर्शो का अनुसरण करते हुए प्रभु श्री राम जी के आदेश से मैं अपनी जदयू की प्राथमिक सदस्यता एवं प्रवक्ता पद से त्यागपत्र को सार्वजनिक करता हूं. आगे कर्तव्य पथ का दिशा निर्देश प्रभु श्री राम करेंगे. जय श्री राम !'

इस्तीफे का कारण बताया

इसके अलावे इस्तीफे का कारण बताते हुए कहा कि, "मैं डॉ. सुनील कुमार सिंह व्यक्तिगत कारण से पार्टी की प्राथमिक सदस्यता के साथ प्रदेश प्रवक्ता के पद से इस्तीफा देता हूं. पार्टी के सर्वमान्य नेता मुख्यमंत्री बिहार, नीतीश कुमार, बिहार प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा, पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह, पूर्व बिहार प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह के मार्गदर्शन में काम करने का और बहुत कुछ सीखने का मौका मिला."

"कोविड 19 जैसे विषम काल के समय चिकित्सा प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष होने के नाते पार्टी के बैनर तले समाज सेवा करने का मौका मिला. टीकाकरण शिविर, जागरूकता अभियान, निःशुल्क टेली कंसल्टेशन, वेबिनार, जागरूकता रथ सहित अनेकों काम किया जिससे राज्य की जनता को लाभ मिला. पार्टी के बैनर तले इस पुनीत कार्य को हम कभी भूल नहीं सकते. पार्टी के सभी प्रवक्ता, नेता और कार्यकर्ता का प्यार और साथ देने के लिए शुक्रिया. पार्टी के विभिन्न पदों पर रह कर काम किया, मेरे लिए सुखद अनुभव रहा."