Daesh News

केरल में यहुदियों की प्रार्थना सभा में 3 ब्लास्ट: दो दिन पहले हमास के समर्थन में हुई थी रैली

केरल के एर्नाकुलम में रविवार को एक कन्वेंशन सेंटर में तीन धमाके हुए. घटना में एक महिला की मौत हो गई, जबकि 20 लोगों के घायल होने की खबर है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, कलामासेरी में स्थित इस कन्वेंशन सेंटर में सुबह साढ़े 9 बजे के करीब यहूदी समुदाय के लोग प्रार्थना कर रहे थे, उसी दौरान 5 मिनट के अंदर लगातार तीन धमाके हुए.

जेहोवाज विटनेसेस संस्थान के स्थानीय प्रवक्ता टीए श्रीकुमार ने कहा कि कन्वेंशन हॉल में 9:45 बजे तीन धमाके हुए. प्रेयर खत्म होने के कुछ ही सेकेंड के अंदर धमाके हुए. पहला धमाका हॉल के बीचोबीच हुआ. कुछ सेकेंड बाद हॉल के दोनों तरफ दो और धमाके हुए. एर्नाकुलम में जहां धमाका हुआ है. उसके आसपास अच्छी संख्या में यहूदी समुदाय के लोग रहते हैं.

दो दिन पहले यहां हमास के समर्थन में रैली हुई थी

दो दिन पहले एर्नाकुलम में हमास के समर्थन में एक रैली भी हुई थी. मौके पर IB और NIA की टीम पहुंची हुई है. धमाके के दौरान कन्वेंशन सेंटर में करीब एक हजार लोग मौजूद थे. सभी अस्पतालों को अलर्ट किया गया है. धमाके की वजह सामने नहीं आई है.

एर्नाकुलम के सभी अस्पताल अलर्ट पर

केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने विस्फोट में घायल हुए लोगों को बेहतर इलाज करने के लिए विभाग के अफसरों को निर्देश जारी किया गया है. एर्नाकुलम के सभी अस्पतालों को अलर्ट कर दिया गया है. मंत्री ने डॉक्टरों समेत सभी स्वास्थ्य कर्मियों को, जो छुट्टी पर हैं, तुरंत लौटने का निर्देश दिया है. इसके अलावा कलामासेरी मेडिकल कॉलेज, एर्नाकुलम जनरल हॉस्पिटल और कोट्टायम मेडिकल कॉलेज में अतिरिक्त सुविधाएं बढ़ाने के भी निर्देश दिए गए हैं.

इस बीच गृह मंत्री अमित शाह ने केरल CM से केरल धमाके के मुद्दे पर बात की हैं. एनएसजी की NBDS टीम भी केरल जाएगी. प्रशासन ने अस्पतालों को पूरी तरह से तैयार रहने को कहा है. एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया, 'धमाका हॉल के बीच में हुआ. मैंने विस्फोट की तीन आवाजें सुनीं. मैं पीछे की तरफ था. वहां बहुत धुआं था. मैंने सुना की एक महिला की मौत भी हो गई है.'

सीएम का बयान

मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने कहा, 'यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. हम घटना के संबंध में विवरण एकत्र कर रहे हैं. एर्नाकुलम में सभी शीर्ष अधिकारी मौजूद हैं. डीजीपी घटनास्थल पर जा रहे हैं. हम इसे बहुत गंभीरता से ले रहे हैं. मैंने डीजीपी से बात की है. हमें जांच के बाद और जानकारी हासिल करनी होगी. फिलहाल, एक की मौत हो गई है और दो लोगों की हालत थोड़ा गंभीर है. कुछ अस्पताल में भर्ती हैं. मैं विवरण प्राप्त करने के बाद बाद में बात करूंगा.'

NIA की टीम रवाना हुई

NIA की 4 सदस्यीय टीम घटना स्थल पर जा रही है.कोच्चि ब्रांच ऑफिस से रवाना हुई एनआईए टीम के साथ में स्थानीय पुलिस भी घटनास्थल पर जाकर जांच करेगी. कन्वेंशन सेंटर में आयोजित तीन दिवसीय कार्यक्रम का आज आखिरी दिन था. धमाका कैसे हुआ और इसके क्या कारण रहे, यह अभी पता नहीं चल सका है.  जिस हॉल में यह धमाका हुआ उसकी क्षमता 2 हजार लोगों की हैं और धमाके के समय यहां 100-150 अधिक लोग मौजूद थे. धमाके को लेकर पुलिस की तरफ से अभी कोई बयान जारी नहीं हुआ है. 

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुबह करीब नौ बजे विस्फोट हुआ और पुलिस सहायता मांगने के लिए कॉल आया. घटना के बाद के कुछ वीडियो सामने आए हैं जिसमें बचाव और राहत कर्मी तथा पुलिस कर्मी घायलों को घटनास्थल से बाहर निकाल रहे हैं. विस्फोट के बाद कन्वेंशन सेंटर के बाहर सैकड़ों लोग देखे गए.

केरल के मंत्री का बयान

एर्नाकुलम में हुई धमाके कई घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए केरल के उद्योग मंत्री और कलामासेरी से विधायक पी राजीव ने कहा, 'मैंने सभी अधिकारियों से बात की है. सभी निर्देश जारी कर दिए गए हैं. हम अभी तक कारण की पहचान नहीं कर पाए हैं.जांच पूरी हो जाने दीजिए. अभी किसी को भी घटनास्थल के पास जाने की इजाजत नहीं दी जाएगी.'

थरूर ने की निंदा

केरल से कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा, 'केरल में एक धार्मिक सभा पर बम हमले की खबर से स्तब्ध और निराश हूं. मैं इसकी घोर निंदा करता हूं और त्वरित पुलिस कार्रवाई की मांग करता हूं. लेकिन यह पर्याप्त नहीं है. अपने राज्य को हत्या और विनाश की मानसिकता का शिकार होते देखना दुखद है. मैं सभी धार्मिक नेताओं से इस तरह की बर्बरता की निंदा करने का आग्रह करता हूं.'

यहोवा के साक्षियों की प्रार्थना के दौरान हुए धमाके

रविवार को यहां यहोवा के साक्षियों की प्रार्थना सभा हो रही थी. विस्फोट में घायल हुए 20 से अधिक लोगों को सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पताल ले जाया गया. अग्निशमन दल के कर्मियों ने जले हुए शव को बरामद कर लिया है और बताया है कि हताहतों की संख्या बढ़ने की संभावना है. पता चला है कि जिस समय धमाके हुए उस समय प्रार्थना सभा चल रही थी. इस दौरान कुछ वहीं घायल हो गए जबकि अन्य लोग मीटिंग हॉल से भागते समय घायल हो गए.

रिपोर्टों के अनुसार, कलामासेरी में जमरा अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन और प्रदर्शनी केंद्र में यहोवा के साक्षियों के तीन दिवसीय सम्मेलन में बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए थे. 

क्या हैं यहोवा के साक्षी?

आपको बता दें कि यहोवा के साक्षी ईसाई धर्म का एक संप्रदाय है जिसकी धार्मिक मान्यताएं मुख्यधारा ईसाईयत से अलग होती हैं. वैश्विक स्तर पर इसके कई कार्यक्रम समय समय पर आयोजित किए जाते हैं. यहोवा के साक्षियों के सिद्धांत उनके शासी निकाय द्वारा तय होते हैं.