Daesh News

Hajipur में Chirag Paswan ने कर दिया बड़ा ऐलान, बोले- ये Loksabha Seat हमारा है, पूरा बिहार देखेगा

लोक जनशक्ति पार्टी रामविलास द्वारा आज एक बड़े कार्यक्रम का आयोजन हाजीपुर में किया गया. इस दौरान चिराग पासवान के साथ साथ उनका पूरा परिवार मौजूद था. वहीं इस मौके पर पार्टी के तमाम नेता और लाखों की संख्या में कार्यकर्त्ता भी शामिल हुए. चिराग पासवान की एक झलक पाने के लिए लोगों का जन सैलाब उमड़ पड़ा. वही मंच से चिराग ने लोगों को संबोधित भी किया. उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि मुझे खत्म करने के लिए बड़ी राजनीतिक शक्तियों ने अपनी ताकत लगा ली बावजूद आप सबों के सहयोग से मैं आज बड़ी मजबूती के साथ आपके समक्ष खड़ा हूं. मैं शेर का बेटा हूं ना किसी के सामने झुकूंगा और ना तो किसी से डरूंगा. आप सबों के आशीर्वाद से ही अपने पिता के गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड को फिर से तोड़ पाऊंगा. बिहार में मौजूदा अहंकारी और अत्याचारी सरकार को अब बिहार की सत्ता में बने रहने का कोई अधिकार नहीं है, उक्त बातें वैशाली जिले के हाजीपुर स्थित अक्षयवट राय स्टेडियम में बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट संकल्प महासभा को संबोधित करते हुए लोक जनशक्ति पार्टी रामविलास के राष्ट्रीय अध्यक्ष  चिराग पासवान ने कहीं. हाजीपुर में आयोजित संकल्प महासभा का विधिवत उद्घाटन दीप प्रज्वलित कर किया.  इस अवसर पर वैशाली जिला कमेटी के द्वारा उन्हें चांदी का मुकुट और तलवार भेंट कर चिराग का स्वागत किया गया. संकल्प महासभा को संबोधित करते हुए चिराग ने कहा कि प्रदेश के किसी भी जिले में कोई भी कार्यक्रम होता है वह राजनीतिक कार्यक्रम होता है लेकिन आज हाजीपुर की पावन धरती पर आप सबों के बीच आकर पारिवारिक प्यार और स्नेह महसूस कर रहा हूं. हमें बड़ी शक्तियों द्वारा कई बार खत्म करने का प्रयास किया गया लेकिन आप सबों के कारण हीं मैं आज पूरी मजबूती से खड़ा हूं. आप सबों ने जो मेरे पिता को पूरी उम्र प्यार और सम्मान दिया है जिससे वे दो-दो बार अपने ही रिकॉर्ड को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में तोड़ा है, आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है कि आप लोगों के सहयोग से फिर उनका रिकॉर्ड तोडूंगा. आज हाजीपुर में अपने पिता के अधूरे सपनों को पूरा करने आया हूं जिसे बिहार परिपेक्ष्य में वह पूरी उम्र देखते रहें. बिहार को फर्स्ट और बिहारी को फर्स्ट बनाने का जो उन्होंने सपना देखा था उसे आज पूरा करने का संकल्प लेता हूं. आज बिहार की सत्ता में आसीन जो मौजूदा सरकार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी पिछले 18 वर्षों से मुख्यमंत्री की कुर्सी पर काबिज हैं, बावजूद बिहार पिछड़ा हुआ है उनसे मेरा इतना हीं सवाल है कि आखिर बिहार पिछड़ा क्यों है? नीतीश कुमार जी कहते हैं कि बिहार का भूगोल बिहार के औद्योगिक विकास में बाधक है वे लगातार बिहार के भूगोल को दोष देते हैं जबकि दोष बिहार के भूगोल में नहीं उनके नीयत में है. जब बिहार के युवाओं को रोजगार को लेकर पलायन को मजबूर होने को मजबूर होना पड़ता हैं, तो उन्हें दूसरे राज्यों मे भी अपने मुख्यमंत्री की गलत नीतियों के कारण निरंतर अपमानित होना पड़ता है, जो मुख्यमंत्री भ्रष्टाचार, रोजगार और औद्योगिक विकास की बात नहीं करते हैं तो क्या उन्हें मुख्यमंत्री अब बने रहने का कोई अधिकार है? आखिर चिराग पासवान से उन्हें परेशानी क्यों है? क्योंकि चिराग पासवान महिलाओं की बात करता है युवाओं की बात करता है बुजुर्गों की बात करता है बिहार में उद्योग धंधे के विकास की बात करता है. पहले षड्यंत्र किया गया कि चिराग पासवान की पार्टी को तोड़ दिया जाए बाद में परिवार को तोड़ा गया लेकिन क्या चिराग पासवान खत्म हो गया? जो लोग सोचते हैं कि चिराग पासवान इस षड्यंत्र से टूट जाएगा उन्हें मैं कहना चाहता हूं कि मैं रामविलास पासवान का बेटा हूं ना तो टुटूंगा और ना ही झुकूंगा. हमारे पिता जीवन के आखिरी सांस तक अपने स्वास्थ्य को दरकिनार करते हुए गरीबों और वंचितों के लिए काम करते रहे जब उनका खुद भी स्वास्थ्य ठीक नहीं था उन्हें उनकी चिंता नहीं थी. चिंता यह थी कि देश के 81 करोड़ गरीबों को कैसे भोजन मुहैया हो सके अपने स्वास्थ्य की अनदेखी कर खुद को देश के लिए समर्पित कर दिया जिस मोबाइल फोन से आप तस्वीर ले रहे हैं वह मोबाइल फोन रामविलास पासवान जी की देन है. आज बिहार की सरकारी विभागों में बिना रिश्वत का कोई काम नहीं होता वही हमारे नेता पर गर्व है हमारे नेता को कोई भ्रष्टाचार का 50 साल के राजनीतिक जीवन में भी दाग न लगना हमारे लिए एक गर्व की बात है.