Daesh News

मुजफ्फरपुर में नाव हादसे के बाद पीड़ित परिजनों से मिले चिराग पासवान, आंखें हो गई नम

मुजफ्फरपुर में नाव हादसे के बाद पीड़ित परिजनों के बीच कोहराम मच गया है. घटनाक्रम के अब तक 50 घंटे बीत चुके हैं. लेकिन, अभी भी 7 की तलाश NDRF और SDRF की टीम के द्वारा जारी है. इस बीच पीड़ित परिजनों से मिलने के लिए लोजपा (रामविलास) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान पहुंचे. पीड़ित परिजनों से मिलने के बाद चिराग पासवान ने पूरे घटनाक्रम को लेकर जानकारियां ली. इसके साथ ही उनका ढाढ़स बांधा. हालांकि, इस दौरान पीड़ित परिजनों से मिलने के बाद चिराग पासवान की आंखें भी नम हो गई.     

साथ ही उन्होंने मीडिया से बातचीत के दौरान नीतीश सरकार को जमकर कोसा. उन्होंने कहा कि, ये घटना सरकार की सबसे बड़ी लापरवाही है, सीएम नीतीश इसके जिम्मेवार हैं. सीएम नीतीश मुजफ्फरपुर में आकर भी यहां नहीं आए, लेकिन पटना के एक अस्पताल में एक अधिकारी बीमार पड़ा तो वहां मिलने पहुंच गए. इसी से उनकी संवेदनहीनता को समझा जा सकता है. चिराग ने कहा कि अगर मेरे वश में होता तो अभी पुल निर्माण कारा देता. जब तक पुल निर्माण नहीं होता, तब तक यही रुका रहता.

बता दें कि, यह घटना गायघाट थानाक्षेत्र के बेनीबाद ओपी इलाके के भटगामा गांव में हुआ. नाव हादसे में 12 लोग लापता हो चुके थे जिनमें से अबतक 5 लोगों की लाश मिल चुकी है, वहीं लापता 7 की तलाश जारी है. NDRF और SDRF की टीम लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन चला रही है. वहीं, चिराग पासवान के गांव में पहुंचते ही लोगों का हुजूम उनसे मिलने के लिए उमड़ पड़ा. जितने भी पीड़ित परिजन थे, उन्होंने अपनी-अपनी बात चिराग पासवान से साझा की.

मुजफ्फरपुर से मुकेश ठाकुर की रिपोर्ट