Daesh News

CM नीतीश 1 लाख नहीं बल्कि इतने ही शिक्षकों को गांधी मैदान में देंगे नियुक्ति पत्र

बीपीएससी की ओर से शिक्षक भर्ती परीक्षा का परिणाम घोषित करने के बाद शिक्षक अभ्यर्थियों का दमदार प्रदर्शन बीपीएससी कार्यालय के बाहर देखने के लिए मिला. अभ्यर्थियों ने रिजल्ट में बड़े फर्जीवाड़े का आरोप लगाया और जांच की मांग की है. लेकिन, दूसरी तरफ बिहार सरकार नवनियुक्त शिक्षकों को नियुक्ति पत्र बांटने की तैयारियों में जुटी हुई है. बीपीएससी से चयनित एक लाख 20 हजार 336 शिक्षकों को नियुक्ति पत्र बांटे जायेंगे. इस बीच आपको बता दें कि, 2 नवंबर को पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में नवनियुक्त शिक्षकों को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नियुक्ति पत्र देंगे.  

लेकिन, इस प्रोग्राम में थोड़ा सा बदलाव हो गया है. दरअसल, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार खुद 5000 नए शिक्षकों को नियुक्ति पत्र बांटेंगे. इस दिन गांधी मैदान में कुल 25000 नवनियुक्तों को नियुक्ति पत्र बांटने की प्लानिंग है. इसे लेकर शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक ने सभी जिलों के डीएम को पत्र जारी करते हुए दिशा-निर्देश दिया है. पत्र में साफ लिखा गया है कि, अब गांधी मैदान में दो नवंबर को लगभग 25000 शिक्षकों को बुलाकर उनके बीच नियुक्ति पत्र का वितरण किया जाएगा. शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक ने सभी डीएम को यह भी जानकारी दी है कि, गांधी मैदान में सीएम नीतीश कुमार करीब 5000 अभ्यर्थियों को, तो वहीं 20 हजार को अन्य मंत्री नियुक्ति पत्र देंगे. इस कार्यक्रम में हर जिले से अभ्यर्थियों को बुलाया जाएगा.

वहीं, 25 हजार के बाद शेष अभ्यर्थियों को जिले में डीएम नियुक्ति पत्र बांटेंगे. केके पाठक ने कहा है कि, नियुक्ति पत्र वितरण के लिए डीएम प्रमंडलीय आयुक्त को भी आमंत्रित कर सकते हैं. जब सीएम नीतीश नियुक्ति पत्र वितरित करेंगे तब जिलों में भी वितरण शुरू हो जाएगा. इस दौरान सीएम नीतीश शिक्षकों को संबोधित भी करेंगे. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के संबोधन को हर एक जिले में शिक्षक वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के माध्यम से सुन सकेंगे. इसे लेकर सभी प्रमंडलीय आयुक्त को पहले से ही अवगत करा दिया गया है. वहीं, गांधी मैदान पहुंचने वाले शिक्षकों में तिरहुत प्रमंडल के मुजफ्फरपुर और मोतिहारी से एक-एक हजार अध्यापक कार्यक्रम में पहुंचेंगे. शिवहर के 200 तो वहीं पश्चिम चंपारण के 800 और वैशाली के 2000 अध्यापक गांधी मैदान जाएंगे. इसके साथ ही अन्य जिलों से भी शिक्षक 2 नवंबर को राजधानी पटना जाएंगे. 

फिलहाल, जितने भी नवनियुक्त हैं उन्हें विद्यालय अलॉट नहीं किया गया है. लेकिन, सूत्रों की माने तो छठ के बाद उन्हें विद्यालय अलॉट किए जा सकते हैं. आपको यह भी बता दें कि, गांधी मैदान में नियुक्ति पत्र बांटने के लिए आयोजित समारोह में शामिल होने के लिए 25 हजार शिक्षकों को विभिन्न जिलों से लाने के लिए 703 बसों का प्रबंध किया गया है. इसका प्रबंध जिला प्रशासन की ओर से किया जाएगा. शिक्षकों को बसों के काफिले के रूप में पुलिस की सुरक्षा के बीच गांधी मैदान में लाया जाएगा. 

इसके साथ ही इसमें एक खास बात यह भी है कि, इस बार दूसरे राज्य के अभ्यर्थियों ने भी बीपीएससी की ओर से आयोजित किये गए परीक्षा में शिरकत की थी. एक लाख 20 हजार शिक्षकों में से 12 फीसदी यानी लगभग 14 हजार अभ्यर्थी दूसरे राज्यों के हैं. ये सभी प्राथमिक शिक्षक के रूप में अनारक्षित वर्ग में चयनित हुए हैं. इनमें सबसे अधिक उत्तर प्रदेश के हैं. वहीं, झारखंड, हरियाणा आदि राज्यों के अभ्यर्थी भी नियुक्त हुए हैं. प्राथमिक शिक्षक के रूप में कुल 72 हजार चयनित हुए हैं, इनमें 14 हजार दूसरे राज्यों के हैं.