Daesh News

केके पाठक के आदेश का पालन करवाना गुरुजी को पड़ा महंगा, बच्चों के घरवालों ने स्कूल में घुस कर पीट डाला

दरभंगा. बिहार के दरभंगा जिले में शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक के आदेश का पालन करवाना एक गुरुजी को महंगा पड़ गया. यहां के सिंहवारा प्रखंड के मध्य विद्यालय बिरदीपुर में शिक्षक ने छात्र-छात्राओं को स्कूल ड्रेस पहन कर ही विद्यालय आने को कहा. इसके बाद छात्र-छात्राओं के घरवालों ने स्कूल पर धावा बोल दिया. स्कूल कैंपस में ही स्कूल ड्रेस पहनने की नसीहत देने वाले टीचर को पीट डाला गया. उधर शिक्षक पर हमला होते देख विद्यालय में भगदड़ मच गई. छात्र-छात्राएं इधर-उधर भागने लगे. मौके पर पहुंचे शिक्षकों ने बीचबचाव कर पीड़ित शिक्षक की जान बचाई. जख्मी सहायक शिक्षक गुलाब हसन को इलाज के लिए सिंहवाड़ा सीएससी में भर्ती कराया गया है. सिंहवारा सीएचसी में टीचर का इलाज कर रहे चिकित्सा अधिकारी प्रेमचंद ने बताया कि शिक्षक गुलाब हसन के हाथ पर गहरा जख्म है.

केके पाठक के आदेश का पालन करवाना पड़ा महंगा

घटना को लेकर शिक्षक गुलाब हसन ने कार्रवाई के लिए सिमरी थाना में आवेदन दिया है. इसमें गांव के ही महताब आलम, मो. फैजी, सैफी उर्फ खलीद, मो. अफान और मो. रहमानी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. बताया गया है कि विद्यालय में सातवीं के क्लास टीचर गुलाब हसन अपनी क्लास में सभी छात्र-छात्राओं को स्कूल ड्रेस में आने के लिए कई दिनों से प्रोत्साहित कर रहे थे. उन्होंने बताया कि शिक्षा विभाग के अपर सचिव केके पाठक के आदेश के आलोक में सभी छात्रों को स्कूल ड्रेस में आने की नसीहत दी जा रही थी. बुधवार को क्लास रूम में पांच-सात छात्राएं बिना स्कूल ड्रेस के फिर आ गई. शिक्षक ने सभी छात्राओं को अपने अपने अभिभावकों को बुलाकर लाने को कहा.

शिक्षक को छात्राओं के घरवालों ने स्कूल में घुस कर पीटा

कई अभिभावक विद्यालय पहुंचे और शिक्षक को बताया कि अगले दिन से छात्राएं स्कूली ड्रेस में आएंगी. इसका हम ख्याल रखेंगे. इसी बीच एक अभिभावक उपद्रवियों के साथ स्कूल परिसर में पहुंच गया. स्कूल परिसर में ही शिक्षक के साथ मारपीट शुरू कर दी. मारपीट के दौरान रॉड से हमला करने के कारण शिक्षक के हाथ में गंभीर चोट लग गई. उन्हें इलाज के लिए सिंहवाड़ा सीएससी में भर्ती करना पड़ा। इस दौरान शिक्षक ने बताया कि अगर क्लास में सभी बच्चे ड्रेस में नहीं होंगे तो केके पाठक कार्रवाई करेंगे. ऐसे में हम इसे लागू करवाने जा रहे हैं तो हम पर ही हमला कर दिया जा रहा है.

कार्रवाई के लिए शिक्षा विभाग को खत लिखा गया

इधर, विद्यालय के एचएम चंद्र भूषण कुमार ने बताया कि केके पाठक के आदेश को अक्षरशः पालन करते हुए विद्यालय में आने वाले सभी बच्चों को ड्रेस कोड में आने की प्रतिदिन नसीहत दी जा रही है. उन्होंने कहा कि विद्यालय परिसर में हुई घटना दुर्भाग्यपूर्ण है. उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए विभाग को पत्र भेजा जा रहा है. वहीं प्रभारी थानाध्यक्ष अंजना कुमारी ने बताया कि एफआईआर दर्ज करने की प्रक्रिया की जा रही है.