Daesh News

CM आवास के सामने निगमकर्मियों का प्रदर्शन आज, 'डेढ़ साल में मात्र 90 रूपया बढ़ा वेतन'

राजधानी पटना में जहां एक तरफ डेंगू का कहर लगातार जारी है तो वहीं दूसरी तरफ नगर निगम के कर्मचारियों के हड़ताल ने परेशानी और भी ज्यादा बढ़ा दी है. जहां-तहां कचरा लोगों के द्वारा फेंक दिया जा रहा है. जिसके बाद रोड पर गंदगी फैल गई है. लोगों का चलना तक मुहाल हो गया है. इस बीच खबर है कि, आज हड़ताल के पांचवें दिन जितने भी कर्मचारी हैं वे सभी सीएम आवास के सामने प्रदर्शन करेंगे. करीब 1 बजे मौर्या लोक में आंदोलनरत कर्मी जमा होंगे और 2 बजे सीएम आवास के बाहर प्रदर्शन के लिए निकलेंगे.   

हड़ताल के बीच नए ड्राइवरों की नियुक्ति 

दूसरी तरफ हड़ताल के बीच निगम प्रशासन ने भी इस बात का फैसला ले लिया है कि हड़ताल के दौरान सफाई कार्य में बाधा पहुंचाने वाले ड्राइवरों की जगह की अब नए ड्राइवरों की बहाली की जाएगी. जेसीबी, हाईवा, 407 बॉबकैट जैसी गाड़ियों के लिए नए चालकों की बहाली हेतु नगर आयुक्त द्वारा एजेंसी को निर्देश दिया गया है. बता दें कि, डेंगू और बारिश के बीच सफाई कर्मियों और चालकों की बारी कमी की वजह से पटना में जल निकासी की बाधा के साथ साथ और भी कई दिक्कतें सामने आ रही है. जिसके बाद यह निर्णय लिया गया.  

आज तक बहाली हो जाएगी पूरी 

निगम द्वारा ये भी निर्णय लिया गया है कि लगभग 98 नए ड्राइवरों की बहाली सोमवार तक पूरी हो जाएगी. साथ ही ये भी कहा है कि पुराने कर्मी जो हड़ताल में शामिल होंगे उन सभी को ब्लैकलिस्ट कर दिया जाएगा और उन सभी का नाम बायोमैट्रिक अटेंडेंस से भी हटा दिया जाएगा. निगम द्वारा ये भी दावा किया गया है कि, रात में 21 टीम द्वारा सड़कों की साफ सफाई की जा रही है. पटना नगर निगम के नगर आयुक्त अनिमेष कुमार पाराशर के मुताबिक, सीएम आवास के सामने प्रदर्शन किए जाने की उन्हें कोई जानकारी नहीं है. उन्होंने कहा कि ब्लैकमेल करनेवाले कर्मचारियों के सामने निगम नहीं झुकेगा. हालांकि, हड़ताल के बावजूद भी सफाई व्यवस्था सुचारू रूप से चल रही है. कर्मियों का वेतन अब 490 रुपए कर दिया गया है. पिछले साल वेतन 50 रुपए बढ़ाया गया था और इस साल वेतन 40 रुपए बढ़ाया गया है. यह नगर निगम के इतिहास में कभी नहीं हुआ है कि कर्मियों का वेतन डेढ़ साल में 90 रुपए बढ़ाया गया हो. नगर आयुक्त ने कहा कि निगम ब्लैकमेल करने वालों के सामने नहीं झुकेगी.