Daesh News

देवरिया मर्डर केस में बड़ा अपडेट, सत्य प्रकाश दुबे के परिवार का 'कातिल' प्रेमचंद यादव का करीबी अरेस्ट, राइफल भी बरामद

उत्तर प्रदेश में देवरिया के फतेहपुर गांव के लेड़हा टोला में हुए नरसंहार मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है. सत्य प्रकाश दुबे और उनके परिवार के चार लोगों की निर्मम हत्या के मामले में आरोपी नवनाथ मिश्रा उर्फ पट्टू को गिरफ्तार कर लिया है. उसके पास से वो राइफल भी बरामद हुई है, जिससे सत्य प्रकाश दुबे और परिवार के लोगों पर पट्टू ने गोली चलाई थी. यह राइफल प्रेमचंद के नाम है. इसे रुद्रपुर के भभौली तिराहे से अरेस्ट किया गया है.

नवनाथ मिश्रा उर्फ पट्टू मृतक पूर्व जिला पंचायत सदस्य प्रेमचंद यादव का ड्राइवर और बॉडीगार्ड है. ये फतेहपुर गांव के अभयपुरा टोला का ही रहने वाला है. इस मामले में एसपी संकल्प शर्मा ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सत्य प्रकाश दुबे, उनकी बेटी सलोनी और बेटे गांधी को गन शॉट इंजरी की पुष्टि हुई है. सत्य प्रकाश के सीने, सलोनी के घुटने और बेटे गांधी के दिल के निचले हिस्से में गोली लगी थी. 

पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने कही ये बातें

पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने बताया कि जब उसे जानकारी हुई कि उसके मालिक प्रेमचंद की हत्या हो गई है तो वो खेत के रास्ते भागते हुए सत्य प्रकाश दुबे के घर पहुंचा. इसके बाद गांव के दो लड़के प्रेम चंद की राइफल लेकर पहुंचे.  उससे ही गोली मारकर हत्या कर दी थी. बता दें कि इस घटना में पुलिस ने नवनाथ समेत 21 लोगों को जेल भेज चुकी है.

NSA के तहत भी होगी कार्रवाई

गौरतललब है कि 2 अक्टूबर को जनपद के रुद्रपुर कोतवाली के फतेहपुर गांव में जमीनी विवाद में पूर्व जिला पंचायत सदस्य प्रेमचंद यादव की हत्या हुई थी. इसके प्रतिशोध में सत्य प्रकाश दुबे और उनके परिवार के चार सदस्यों की निर्मम हत्या कर दी गई थी. इस वारदात को बंदूक और धारदार हथियार से अंजाम दिया गया था.

SPसंकल्प शर्मा थाना रुद्रपुर ने बताया कि इस हत्याकांड के बाद सत्य प्रकाश दुबे के परिवार की तरफ से एफआईआर दर्ज कराई गई थी. मामले में नवनाथ मिश्रा समेत 21 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. नवनाथ प्रेमचंद के साथ रहता था. इसने स्वीकार किया है कि घटना के समय मौके पर था. राइफल से तीन राउंड फायरिंग की थी. इस मामले में NSA के तहत भी कार्रवाई होगी.