Daesh News

अगर आपको भी है ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या? इन चीजों को खाने से मिल सकता है आराम

ऑस्टियोपोरोसिस एक मेडिकल कंडीशन है जो हड्डियों को कमजोर कर देती है, जिससे वे नाजुक हो जाती हैं और फ्रैक्चर का खतरा काफी ज्यादा बढ़ जाता है. ऑस्टियोपोरोसिस के कारण होने वाले फ्रैक्चर कूल्हे-कलाई या रीढ़ की हड्डी में सबसे ज्यादा होते हैं. ऐसा तब होता है जब हमारा शरीर बहुत ज्यादा हड्डियां खोने लगता है. सिर्फ खाने से आप ऑस्टियोपोरोसिस के खतरे को कम नहीं कर सकते हैं. इसके लिए डाइट में कुछ स्पेशल चीजों को शामिल करने की जरूरत पड़ती है, ताकि इस स्थिति को मैनेज किया जा सके.

आज हम जिन चीजों की बात कर रहे हैं वह पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं और हड्डियों की स्ट्रेंथ को मेंटेन करने के लिए काफी जरूरी मानी जाती हैं. उदाहरण के लिए, पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम लेने से हड्डियां मजबूत बनती हैं. इसके अलावा, विटामिन डी को कैल्शियम के अवशोषण के लिए जरूरी माना जाता है. यह आपको सूरज की रोशनी और कुछ खास चीजों से मिलता है.

मैग्नीशियम हड्डियों में खनिज तत्वों की पूर्ति करता है. विटामिन K हड्डियों के मेटाबॉलिज्म में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. यह हरी पत्तेदार सब्जियों में पाया जाता है. हड्डियों को मजबूत बनाए रखने के लिए प्रोटीन की काफी ज्यादा जरूरत होती है. आज हम आपको कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपकी हड्डियों को मजबूत करती हैं और इन्हें खाने से ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा भी कम होता है.

डेयरी प्रोडक्ट्स- यह कैल्शियम और विटामिन डी से भरपूर होते हैं. यह बोन की डेंसिटी को इंप्रूव करने और फ्रैक्चर के खतरे को कम करने में मदद करते हैं.

हरी पत्तेदार सब्जियां- हरी पत्तेदार सब्जियों में कैल्शियम, मैग्नीशियम और विटामिन K होता है जो फ्रैक्चर को खतरे को कम करते हैं.

सैल्मन- फैटी फिश में ओमेगा-3  और विटामिन डी की मात्रा काफी ज्यादा पाई जाती है, जो हड्डियों को मजबूत करने और और जलन को कम करने में मदद करते हैं.

बादाम- बादाम में कैल्शियम, मैग्नीशियम और विटामिन ई भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं. यह हड्डियों को मजबूत रखने और फ्रैक्चर के खतरे को कम करने में मदद करता है.

संतरा- संतरे में विटामिन सी की मात्रा काफी ज्यादा पाई जाती है. यह शरीर में कोलेजन के प्रोडक्शन को बढ़ाने में मदद करता है. इसे खाने से हड्डियां मजबूत बनती हैं.

अंडे- प्रोटीन से भरपूर होने के साथ ही इसमें विटामिन डी और विटामिन K भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो हड्डियों मजबूत करता है.

तिल के बीज- इन छोटे से बीजों में कैल्शियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस की भरपूर मात्रा पाई जाती है, जो हड्डियों को मजबूत करने में मदद करते हैं.