Daesh News

बिहार आएंगी द्रौपदी मुर्मू, सीएम नीतीश ने दिया आमंत्रण, तीन दिवसीय दौरे पर क्या-क्या होगा?

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हाल ही में जी20 के सम्मेलन में दिल्ली गए थे. यहां उनकी मुलाकात पीएम नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के साथ हुई थी. अब नीतीश कुमार के बुलावे पर द्रौपदी मुर्मू बिहार दौरे पर आने वाली हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक तारीख भी फिक्स हो गई है. 18 अक्टूबर को राष्ट्रपति तीन दिवसीय दौरे पर आने वाली हैं. यह दौरा बेहद खास होने वाला है. चौथे कृषि रोड मैप की औपचारिक शुरुआत अक्टूबर में होगी. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू इसका उद्घाटन करेंगी.

राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार आना होगा बिहार

राज्य सरकार ने राष्ट्रपति भवन को पत्र भेज राष्ट्रपति से समय की मांग की थी. इसी साल एक अप्रैल से बिहार में चौथे कृषि रोड मैप की शुरुआत हुई है. राष्ट्रपति बनने के बाद द्रौपदी मुर्मू पहली बार बिहार आएंगी. कार्यक्रम का आयोजन पटना के ज्ञान भवन में हो सकता है. द्रौपदी मुर्मू के बिहार दौरे को लेकर बहुत कुछ खास होने वाला है.

गया और मोतिहारी में होना है दीक्षांत समारोह

बिहार दौरे पर द्रौपदी मुर्मू मोतिहारी में केंद्रीय विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में शामिल होंगी. मोतिहारी के महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय में 20 अक्टूबर को दीक्षांत समारोह है. इससे पहले 19 अक्टूबर को गया के सीयूएसबी में दीक्षांत समारोह है.

बता दें कि राज्य में पहला कृषि रोड मैप 2018 में लागू किया गया था. दूसरे रोड मैप का उद्घाटन 2012 में तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने किया था. तीसरे कृषि रोडमैप की शुरुआत 2017 में तत्कालीन राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने की थी. अब चौथे कृषि रोड मैप का उद्घाटन राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू करने वाली हैं.

चौथे कृषि रोड मैप में क्या है?

रिपोर्ट्स के मुताबिक चौथे कृषि रोड मैप में उन्नत खेती के लिए राज्यों में 100 सीट हब बनेंगे. 20 मिलेट हब होंगे. जूट की खेती और गुड़ के उद्योग को बढ़ावा दिया जाएगा. इसके अलावा लेमन ग्रास और मेंथा की खेती को भी बढ़ावा दिया जाएगा. जिन खेतों में पानी लग जाता है वहां पानी निकालने की योजना है.