Daesh News

अंतरिक्ष में जाने के लिए गगनयान की तैयारी पूरी, 21 अक्टूबर को भरेगा पहली उड़ान

चंद्रयान 3 ने चंद्रमा पर सफल लैंडिंग के बाद पूरी दुनिया में भारत का डंका बजाया. इसके बाद अब गगनयान की बारी है. दरअसल, इसरो द्वारा गगनयान को पूरी तरह से तैयार कर लिया गया है. भारतीय एस्ट्रोनॉट्स को अंतरिक्ष में ले जाने के लिए गगनयान तैयार है. जानकारी के मुताबिक, गगनयान अपनी पहली उड़ान 21 अक्टूबर को भरेगा. गगनयान का क्रू मॉड्यूल रॉकेट के ऊपर तैनात हो चुका है. अब सिर्फ इसे लॉन्च पैड पर ले जाने की तैयारी चल रही है.  

यह है मिशन का नाम 

वहीं, इस मिशन का नाम टेस्ट व्हीकल डिमॉन्सट्रेशन-1 (TVD-1) है. वहीं, इस टेस्ट का मकसद बताया जा रहा है कि, उड़ान के समय क्रू एस्केप सिस्टम का इन-फ्लाइट एबॉर्ट डिमॉन्सट्रेशन करना. इस समय कैप्सूल की गति मैक 1.2 यानी 1431 km प्रतिघंटा की रफ्तार से उड़ान भर रहा होगा. इसी स्पीड में 11.7 किलोमीटर की ऊंचाई से कैप्सूल रॉकेट से 60 डिग्री पर अलग होगा. वहां से दूसरी दिशा में जाएगा. क्रू-मॉड्यूल और क्रू-एस्केप सिस्टम 596 km प्रतिघंटा की रफ्तार से 17 किलोमीटर ऊपर जाना शुरू करेगा. वहां पर दोनों हिस्से अलग होंगे. इसके बाद 16.7 किलोमीटर की ऊंचाई पर आते ही इसके छोटे पैराशूट खुल जाएंगे. जब कैप्सूल 2.5 किलोमीटर से कम ऊंचाई पर होगा, तब इसके मुख्य पैराशूट खुलेंगे. इस टेस्ट में यही चीजें देखी जाएगी.

बंगाल की खाड़ी में लैंड करेगा क्रू मॉड्यूल 

खबर की माने तो, क्रू मॉड्यूल की बंगाल की खाड़ी में लैंडिंग होगी. वहां से उसे नौसेना रिकवर करेगी. इस टेस्ट उड़ान की सफलता गगनयान मिशन के आगे की सारी प्लानिंग की रूपरेखा तय करेगा. इसके बाद एक अगले साल एक और टेस्ट फ्लाइट होगी. जिसमें ह्यूमेनॉयड रोबोट व्योममित्र को भेजा जाएगा. 21 अक्टूबर की उड़ान के दौरान नेविगेशन, सिक्वेंसिंग, टेलिमेट्री, ऊर्जा आदि की जांच की जाएगी. क्रू मॉड्यूल को अबॉर्ट मिशन पूरा करने के बाद बंगाल की खाड़ी से भारतीय नौसेना की टीम रिकवर करेगी. अबॉर्ट टेस्ट का मतलब होता है कि अगर कोई दिक्कत हो तो एस्ट्रोनॉट के साथ ये मॉड्यूल उन्हें सुरक्षित नीचे ले आए. क्रू मॉड्यूल को कई स्टेज में विकसित किया गया है. इसमें प्रेशराइज्ड केबिन होगा. ताकि बाहरी वायुमंडल या स्पेस का असर एस्ट्रोनॉट्स पर न पड़े. इसका इंटीग्रेशन और टेस्टिंग हो चुकी है. अब इसे लॉन्चिंग के लिए श्रीहरिकोटा भेजा जाएगा.