Daesh News

गया में नक्सलियों के नाम पर लेवी वसूलने वाला दो अपराधी गिरफ्तार, एसएसपी आशीष भारती ने दी जानकारी

बिहार के गया में अपराध रोकने के लिए पुलिस लगातार कोशिश कर रही है. इसी क्रम में गया दो अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है. दरअसल, बिहार के गया में जेल से छूटकर आए अपराधियों ने नक्सलियों के नाम पर लेवी मांगने की दो घटनाएं सामने आई है. गया एसएसपी आशीष भारती ने विशेष टीम का गठन कर मामले की छानबीन शुरू की. पुलिस ने दो अपराधियों को टेक्निकल सेल की मदद से गिरफ्तार कर लिया है.

गया में दो कुख्यात अपराधी गिरफ्तार

जानकारी के अनुसार गत महीने एक तरह मिलते-जुलते दो एफआईआर दर्ज किए गए थे. पहली प्राथमिकी बाराचट्टी थाना में दर्ज हुई थी. जिसमें बिजली ग्रिड सब स्टेशन निर्माण कार्य में लगे मजदूरों से मोबाइल छिनतई करते हुए लेवी की डिमांड का मामला सामने आया था. मजदूरों को धमकाया गया था कि ठेकेदार से लेवी देने को कह दे. इस घटना को लेकर बाराचट्टी थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई थी.

नक्सलियों के नाम पर लेवी

वहीं, दूसरी घटना गुरुआ थाना इलाके में हुई थी. गुरुआ थाना अंतर्गत दुबा से लेकर करमाईन तक सड़क बननी थी. इस कार्य में लगे मजदूरों को बीते महीने अपराधियों के द्वारा धमकाया गया था और लेवी मिलने तक काम बंद रखने की बात कही गई थी. यहां भी नक्सलियों के नाम पर लेवी की डिमांड इन अपराधियों के द्वारा की गई थी. गुरुआ थाना में इसकी प्राथमिक की दर्ज की गई थी.

दो अपराधियों को किया गिरफ्तार

इस मामले में टेक्निकल सेल की मदद से दो अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. गिरफ्तार अपरोधियों में विनोद यादव शेरघाटी थाना क्षेत्र निवासी और सूर्यदेव यादव गुरुआ थाना क्षेत्र निवासी शामिल है. दोनों का पूर्व से आपराधिक इतिहास रहा है. दोनों को कुख्यात अपराधी बताए जाते हैं.

गया के एसएसपी आशीष भारती ने बताया कि "बीते दिनों बाराचट्टी और गुरुवा थाना क्षेत्र में कंस्ट्रक्शन का काम करने वाली कंपनियों से लेवी की डिमांड की गई थी. अपराधियों ने खुद को नक्सली बता इस तरह की राशि की डिमांड की थी. दोनों मामलों में प्राथमिकी दर्ज हुई थी. इस मामले को लेकर टीम गठित की गई थी, जिसके बाद तकनीकी अनुसंधान के आधार पर छापेमारी करते हुए दो अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. यह दोनों अपराधी पूर्व में भी जेल जा चुके हैं. पुलिस मामले में आगे की कार्रवाई कर रही है."