Daesh News

बिहार में शिक्षक बनने का सपना देखने वालों के लिए खुशखबरी, दूसरे चरण की बहाली के लिए डेट जारी

बिहार में बीपीएससी के माध्यम से बहाली के लिए पहले चरण में एक लाख 70 हजार पदों पर भर्तियां निकाली गई थी. जिसमें कई अभ्यर्थी सफल हुए और 2 नवंबर को जितने भी नवनियुक्त  शिक्षक हैं, उन्हें नियुक्ति पत्र भी सौंपा जायेगा. इस बीच एक बड़ी खुशखबरी आ गई है. दरअसल, बिहार में शिक्षक बनने का सपना देखने वालों के लिए बड़ी खबर है. बीपीएससी के द्वारा अब दूसरे चरण के बहाली की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. बीपीएससी की ओर से तैयारियां जोरों-शोरों से की जा रही है. इसी के साथ इस बार भी एक लाख से अधिक पदों पर अभ्यर्थियों को शिक्षक बनने का मौका मिल रहा है. 

अभ्यर्थियों के बीच जगी उम्मीद 

बता दें कि, दूसरे चरण की बहाली के लिए शिक्षा विभाग की ओर से प्रेस विज्ञप्ति जारी की गई है. जिसमें बहाली को लेकर पूरी जानकारी दी गई है. दूसरे चरण में 1.10 अध्यापक और शिक्षक बहाल होंगे. विज्ञप्ति में स्पष्ट कर दिया गया है कि, द्वितीय चरण में अध्यापक के आलावा कल्याण विभाग के पिछड़ा वर्ग और अति पिछड़ा वर्ग के स्कूलों में शिक्षक और प्रधानाध्यायक की बहाली की जाएगी. इसके साथ ही साथ सामान्य प्रशासन विभाग से अधियाचना मिलने के बाद बीपीएससी द्वारा नियुक्ति प्रक्रिया शुरू भी कर दी जाएगी. वहीं, बीपीएससी के इस कदम से जो भी शिक्षक पहले चरण में सफल नहीं हो पाएं खास कर उनमें उम्मीद जगी है.

ऑनलाइन ही भरे जायेंगे आवेदन 

बता दें कि, दूसरे चरण की बहाली के लिए भी अभ्यर्थियों की ओर से इन पदों के लिए ऑन-लाइन आवेदन ही प्राप्त किए जाएंगे. आवेदन 3 से 14 नवंबर तक प्राप्त किए जाएंगे. हालांकि, ऐसा भी कहा जा रहा कि, यह अभी संभावित तिथि है. आगे इसमें बदलाव हो सकते हैं. वहीं, नियुक्ति के लिए परीक्षा का आयोजन 7 दिसंबर से 10 दिसंबर 2023 तक संभावित है. परीक्षा की तिथि में भी बीपीएससी की ओर से बदलाव हो सकते हैं. यह पूरी जानकारी जारी किये गए विज्ञप्ति में दी गई है. 

इनकी होने वाली है नियुक्ति 

बताया यह भी गया है कि बीपीएससी द्वारा मध्य विद्यालय ( वर्ग 06 से 08), माध्यमिक विद्यालय ( वर्ग 09 से 10 ) और उच्च माध्यमिक ( वर्ग 11 से 12 ) के लिए अध्यापक की नियुक्ति होगी. इसके साथ ही पिछड़ा वर्ग और अति पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के अन्तर्गत प्रारम्भिक शिक्षक (प्रशिक्षित) माध्यमिक शिक्षक (स्नातक प्रशिक्षित) और उच्च माध्यमिक शिक्षक (स्नातकोत्तर प्रशिक्षित) के अलावा प्रधानाध्यापक की भी नियुक्ति की जाएगी. वहीं, इस खबर के बाद कहीं ना कहीं अभ्यर्थियों के बीच खुशी देखी जा रही है.