Daesh News

आप भी कार में करते हैं ब्लोअर का इस्तेमाल तो हो जाएं सतर्क, नहीं तो जान पर आ सकती है आफत

देश के अधिकांश हिस्सों में अब ठंड ने दस्तक दे दी है. आने वाले कुछ दिनों में ठंड के और भी ज्यादा बढ़ने की संभावना जताई गई है. ऐसे में कई लोगों के द्वारा ठंड से राहत पाने के लिए ब्लोअर का इस्तेमाल किया जाता है. घर हो या कार, इन जगहों पर ब्लोअर का इस्तेमाल करना आम बात हो गई है. खासकर लोग कार में ठंड से बचने के लिए सभी खिड़कियां बंद करके ब्लोअर का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन, इस दौरान अगर लापरवाही बरती जाती है तो युवक की जान भी जा सकती है. कई बार ऐसा होता है कि, ब्लोअर के इस्तेमाल को लेकर कई बातों को लोग नजरअंदाज कर देते हैं, जिसके कारण उन्हें भारी-भरकम नुकसान झेलना पड़ता है. 

कार की खिड़की को पूरी तरह बंद करने से बचें 

तो चलिए आपको हम बताते हैं कि, आखिर किस तरह से ब्लोअर का इस्तेमाल करने पर दिक्कत हो सकती है और किस तरह की सावधानी बरतनी चाहिए. दरअसल, अक्सर लोग ठंड से बचने के लिए ब्लोअर को चलाकर पूरी तरह से कार की विंडो को बंद कर देते हैं, ऐसा करने पर कुछ समय के लिये ठंड से बचाव तो हो सकता है लेकिन अंदर घुटन महसूस होने लगेगी. इसलिए ब्लोअर का इस्तेमाल करते समय खिड़कियों/ग्लास को पूरी तरह से बंद करने से बचें, और कार के अंदर वेंटिलेशन बनाये रखने के लिए कुछ समयांतराल पर विंडो ओपन करते रहें. ऐसा इसलिए कहा जा रहा क्योंकि ज्यादा समय तक ब्लोअर ऑन रखने से ऑक्सीजन की कमी हो जाती है. 

ऑक्सीजन की हो जाती है कमी 

उदाहरण के लिए, जिस तरह से घर में ज्यादा देर तक हीटर जलाने से ऑक्सीजन की कमी हो जाती है. ठीक उसी तरह कार में ज्यादा देर तक ब्लोअर ऑन रहने से ऑक्सीजन की कमी हो जाती है. जिसके कारण कार के अंदर बैठे लोगों के दम घुटने लगते हैं और उनके जान पर आफत आ जाती है. दूसरी गौर करने वाली बात यह भी है कि, गाड़ी में ज्यादा देर ब्लोअर का इस्तेमाल करने से कार्बन डाइऑक्साइड और मोनो डाइऑक्साइड गैस की मात्रा बढ़ने लगती है, जिसकी वजह से सांस लेने में समस्या होती है. ऐसे में उन गार्जियन को भी आगाह किया जाता है जो अपने बच्चों को कार में छोड़कर किसी दुकान से सामान लेने के लिए चले जाते हैं. ऐसी परिस्थिति में बड़ी दुर्घटना हो सकती है. 

रीसर्क्युलेशन मोड रखें चालू 

इसके अलावे कार में ब्लोअर का इस्तेमाल करने वालों को यह भी सलाह दिया जाता है कि, कार ड्राइव करते वक्त जब भी आप कार ब्लोअर का इस्तेमाल करें तो रीसर्क्युलेशन मोड चालू रखें. इससे ताजी हवा अंदर आने पर दिक्कत नहीं होती है. ठंड में विंडशील्ड पर कोहरा जमा होने के कारण दुर्घटनाएं होती हैं. इससे छुटकारा पाने के लिए आप कार के शीशे को कुछ देर के लिए खोलकर ब्लोअर का इस्तेमाल कर सकते हैं. इन सभी कारणों से लोगों को संभलकर ब्लोअर का इस्तेमाल करने की हिदायत दी जा रही है. सावधानी नहीं बरतने पर भारी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है.