Daesh News

झारखंड के ग्रामीण विकास विभाग में हुए टेंडर कमीशन घोटाले मामले में सभी आरोपितों की पेशी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये PMLA के विशेष न्यायाधीश पीके शर्मा की अदालत में हुई....

आज आलमगीर आलम सहित नौ आरोपितों की न्यायिक हिरासत अवधि 14 दिनों के लिए बढ़ा दी गई है। अब इनकी अगली पेशी 29 जून को होगी।

आरोपितों में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम, संजीव लाल, जहांगीर आलम, ग्रामीण कार्य विभाग के पूर्व मुख्य अभियंता वीरेंद्र राम, उनका भतीजा आलोक रंजन, हरीश यादव, नीरज मित्तल, रामप्रकाश भाटिया और तारा चंद शामिल हैं। टेंडर घोटाला मामले में ED ने पहली कार्रवाई 21 फरवरी, 2023 को की थी। इस समय ग्रामीण विकास विभाग के पूर्व मुख्य अभियंता वीरेंद्र राम के कई ठिकानों पर ED ने छापेमारी की थी। इसके बाद 23 फरवरी को ED ने वीरेंद्र राम को गिरफ्तार किया था। मामले में वीरेंद्र राम के करीबी और सहयोगियों को भी गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। वीरेंद्र राम को रिमांड पर लेकर हुई ED की पूछताछ में टेंडर कमीशन में कई लोगों के शामिल होने की जानकारी ED को मिली थी।

उल्लेखनीय है कि ED ने बीते पांच मई को टेंडर कमीशन घोटाले में मंत्री आलमगीर के PS संजीव लाल और उसके नौकर जहांगीर सहित अन्य लोगों के ठिकानों पर छापेमारी की थी।

ED ने 14 मई को नौ घंटे और 15 मई को छह घंटे तक पूछताछ करने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद ED ने आलमगीर आलम को 14 दिनों के रिमांड पर लेकर पूछताछ की थी।

Scan and join

Description of image