Daesh News

जेएमएम ने पीएम मोदी के तीसरी बार प्रधान मंत्री पद पर शपथ लेने से पहले जमकर निशाना साधा...

18वीं लोकसभा गठन के पूर्व एनडीए संसदीय दल  की बैठक हुई . एनडीए संसदीय दल ने सर्वसम्मति से मोदी जी के नाम का  प्रस्ताव राजनाथ सिंह ने रखा. एनडीए के घटक दलों ने उनका अनुमोदन किया.. मोदी जी ने भाषण दिया भाषण के तहत जो वक्तव्य दिया है उससे स्पष्ट होता है कि जबरदस्ती अमित शाह द्वारा पीएम बना रहे हैं..

आज पहली बार दस वर्षो के बाद एनडीए का नाम लेने को मजबूर हुए अपने भाषण में एक बार भी बीजेपी का नाम नहीं लिया. इससे साफ जाहिर होता है कि बीजेपी अपनी हार स्वीकार लिया है. दस साल में पहली बार दिवंगत नेताओ का नाम लेने को मजबूर हो गए. चुनावी जनसभा में अपने संबोधन में मोदी की गारंटी बोलते थे. एनडीए के एक एक सदस्य को मंच पर बैठाया गया. आजसू पार्टी के सुदेश महतो को मंच पर बैठाया गया यह झारखंड के लिए अपमान है. जो नौ सांसद चुन कर गए हैं उनको बताना होगा कि सरना धर्म कोड लागू होगा कि नहीं. नीतीश कुमार, चंद्र बाबू नायडू को बताना पड़ेगा की Caa, एनआरसी लागू होगा कि नहीं. मोदी जी इतना घबराए हुए थे  की कहा हमारी पार्टी में कुछ फ्रॉड है. पिछले दस साल के सरकार में मोदी की सरकार कहते थे वहीं अब एनडीए की सरकार कह रहे हैं. संसद के पहले सत्र में ओबीसी 27% आरक्षण, सरना धर्म कोड, अग्निवीर योजना को समाप्त किया जाए,50 हजार पद के लिए विज्ञापन निकाला जाए. नीतीश कुमार में इतना समर्पण भाव तो देखा ही नहीं वह पीएम के पैर छूते नजर आए. आपसी कलह के कारण यह सरकार पांच साल नहीं टिक पायेगी।

Scan and join

Description of image