Daesh News

KK Pathak का शिक्षा विभाग अब डिग्री कॉलेजों का लेगा प्रेजेंटेशन

ACS केके पाठक का शिक्षा विभाग अब राज्य के 285 डिग्री कॉलेजों का प्रेजेंटेशन लेगा, जिसमें प्रिंसिपल से अधिकारी तक तलब होंगे. समीक्षा का काम 18 सितंबर से 5 अक्टूबर तक चलेगा.

अब बिहार सरकार 285 संबद्ध डिग्री कॉलेजों की संपूर्ण कागजात समेत तमाम पहलुओं की समीक्षा करेगी. शिक्षा विभाग ने सभी विश्वविद्यालयों से इन कॉलेजों की विस्तृत रिपोर्ट मांगी है. विभाग में इन सभी संबद्ध डिग्री कॉलेजों का पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन होगा. इनमें अनुदानित एवं बिना अनुदान वाले कॉलेज शामिल हैं. कॉलेजों के पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन का कार्यक्रम 18 सितंबर से 5 अक्टूबर तक चलेगा. इसके लिए कॉलेज, प्राचार्य, सचिव, अध्यक्ष एवं विशेषज्ञ पदाधिकारी बुलाए गए हैं. 

शिक्षा विभाग की उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. रेखा कुमारी ने सभी संबंधित विश्वविद्यालयों के कुलसचिवों को इस संबंध में निर्देश दिया है. पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन लेने वाले अधिकारियों में शिक्षा विभाग के सचिव वैद्यनाथ यादव, विशेष सचिव सतीशचंद्र झा, उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. रेखा कुमारी, उप निदेशक डॉ. दीपक कुमार सिंह, विभा कुमारी व दिवेश कुमार चौधरी शामिल हैं. 

प्रेजेंटेशन के दौरान क्या देना होगा ? 


पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन में कॉलेज के गेट के फोटो के साथ सम्बद्धता प्रमाणपत्र, संबंधन प्रतिवेदन, आधारभूत संरचना, भूमि के कागजात, निबंधन संख्या, रकबा, खाता, खेसरा संख्या, मालगुजारी रसीद, लैंड पोजिशन सर्टिफिकेट, नजरी नक्शा, लैब, कंप्यूटर लैब, पुस्तकालय की स्थिति, प्रोफेशनल वोकेशनल कोर्स का मान्यता पत्र, नामांकित छात्र-छात्रा एवं विगत सत्र का रिजल्ट. 

किस विश्वविद्यालय के कितने कॉलेज ? 


पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय के 41, मगध विश्वविद्यालय के 39, वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय के 45, कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय के 50, ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के 29, बीएन मंडल विश्वविद्यालय के 20, जयप्रकाश विश्वविद्यालय के 8, पूर्णिया विश्वविद्यालय के 18, तिलका मांझी भागलपुर विश्वविद्यालय के 17 और बीआरए विश्वविद्यालय के 18 कॉलेज शामिल हैं.