Daesh News

Breaking News: लालू परिवार की बढ़ी मुश्किलें, ED ने इस मामले में दाखिल की चार्जशीट

लालू यादव के रेल मंत्री रहते ‘लैंड फॉर जॉब’ स्कैम के मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने चार्जशीट दाखिल की है. ईडी ने दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में दाखिल की गई चार्जशीट में पूर्व बिहार सीएम राबड़ी देवी और मीसा भारती का नाम है. इनके अलावा लालू यादव की एक और बेटी हेमा यादव का भी नाम चार्जशीट में शामिल है. वहीं हृदयानंद चौधरी और अमित कात्याल के भी नाम चार्जशीट में शामिल हैं. यही नहीं दो कंपनियों को भी इस मामले में आरोपी बनाया गया है. राउज एवेन्यू कोर्ट ने ईडी को आदेश दिया है कि वह चार्जशीट की ई-कॉपी भी फाइल करे. कोर्ट ने अब इस मामले के लिए सुनवाई की अगली तारीख 16 जनवरी तय की है.

ईडी ने 5 जनवरी को तेजस्वी यादव को बुलाया था

आपको बता दें इससे पहले ईडी ने 5 जनवरी को पूछताछ के लिए दिल्ली डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव को बुलाया था. लैंड फॉर जॉब मामले में दूसरा समन जारी किया गया था. वहीं, सूत्रों की जानकारी के अनुसार ईडी के सामने कल तेजस्वी यादव पेश नहीं होंगे. बिहार सरकार के कार्यक्रमों में व्यस्तता के कारण तेजस्वी ईडी के सामने पेश नहीं हो रहे हैं. डिप्टी सीएम तेजस्वी को इससे पहले भी 22 दिसंबर 2023 और 27 दिसंबर 2023 को आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को पूछताछ के लिए दिल्ली स्थित मुख्यालय में बुलाया गया था, लेकिन लालू-तेजस्वी दोनों की ईडी के समन भेजने के बाद भी दिल्ली नहीं गए थे.

लालू तेजस्वी सहित लालू परिवार के कई सदस्यों से पहले भी जांच एजेंसी के द्वारा पूछताछ

जमीन के बदले नौकरी देने के मामले में आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव और तेजस्वी यादव से ईडी पूछताछ करना चाहती है. लालू यादव पर आरोप है कि उन्होंने 2004-2009 तक रेल मंत्री रहते हुए नौकरी देने के बदले लोगों की जमीनें ली हैं. लालू तेजस्वी सहित लालू परिवार के कई सदस्यों से पहले भी जांच एजेंसी के द्वारा पूछताछ की जा चुकी है, लेकिन इस मामले में बीते दिनों ऐसे आरोपियों का बयान दर्ज हुआ है जो लालू परिवार के करीबी हैं और उनके द्वारा दर्ज बयान के आधार पर लालू-तेजस्वी से ईडी की टीम पूछताछ करना चाहती है.

बता दें कि ईडी ने 31 जुलाई 2023 को आरजेडी नेता राबड़ी देवी, मीसा भारती (लालू यादव की बेटी), विनीत यादव (लालू की बेटी हेमा यादव के पति), शिव कुमार यादव (हेमा यादव के ससुर), ए बी एक्सपोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड और ए के इंफोसिस्टम्स प्राइवेट लिमिटेड की 6.02 करोड़ रुपये की छह अचल संपत्तियों को कुर्क किया था. दोनों कंपनियां लालू प्रसाद यादव के परिवार के सदस्यों के स्वामित्व और नियंत्रण में हैं.