Daesh News

दिवाली पर उत्तराखंड में बड़ा हादसा, सिलक्यारा की सुरंग में भूस्खलन, करीब 40 मजदूरों की जान खतरे में

उत्तराखंड के उत्तरकाशी में यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर सिलक्यारा से डंडालगांव तक निर्माणाधीन सुरंग के अंदर भूस्खलन हुआ है. सुरंग का निर्माण एनएचआईडीसीएल के निर्देशन में नवयुगा कंपनी कर रही है. 

बताया जा रहा है कि सुरंग के अंदर 40 से ज्यादा मजूदर फंसे हैं. जिला आपदा प्रबंधन उत्तरकाशी ने इसकी पुष्टि की है. भले अभी यह पता नहीं चल पाया है कि सुरंग के अंदर कुल कितने श्रमिक फंसे हैं. कंपनी की ओर से मलबे को हटाने का कार्य किया जा रहा है. मौके पर पांच 108 एंबुलेंस तैनात की गई हैं.

हादसे की सूचना मिलने पर सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि घटना के बाद से मैं लगातार अधिकारियों से संपर्क में हूं. हादसे की पूरी जानकारी है. एसडीआरएफ और एनडीआरएफ मौके पर मौजूद है. सभी की सुरक्षित वापसी के लिए प्राथर्ना कर रहे हैं.

 

एडीजी कानून व्यवस्था एपी अंशुमान ने बताया कि अभी किसी की मृत्यु की सूचना नहीं है. एसडीआरएफ और अन्य बचाव दल पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए है. जानकारी के अनुसार, हादसा रविवार सुबह 5:00 बजे हुआ. सिलक्यारा की ओर सुरंग के द्वार से 200 मीटर की दूरी पर यह भूस्खलन हुआ है, जबकि जो मजदूर काम कर रहे थे वो वाहन द्वार के 2800 मीटर अंदर हैं.

आलवेदर रोड प्रोजेक्ट के तहत तैयार की जा रही सुरंग की लंबाई 4.5 किमी है. इसमें से चार किमी तक निर्माण पूरा कर लिया गया है. पहले सुरंग निर्माण पूर्ण करने का लक्ष्य सितंबर 2023 था, लेकिन अब मार्च 2024 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है.