Daesh News

Maldives Controversy : FWICE ने दिया झटका, अब Bollywood Movies की नहीं होगी शूटिंग !

मालदीव को लेकर पिछले दिनों हुआ विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. एक के बाद एक नए एंगल सामने आ रहे हैं. इस बीच मालदीव के मंत्रियों द्वारा भारत पर आपत्तिजनक टिप्पणी किए जाने के कारण उपजा बवाल अब मालदीव पर भारी पड़ गया. बड़ी-बड़ी हस्तियों और कंपनियों ने तो पहले ही उसे बॉयकॉट करने का निर्णय ले लिया था. लेकिन अब फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एंप्लॉयज (FWICE) ने भी एक प्रेस रिलीज जारी करके मालदीव में शूटिंग करने का विरोध किया है और अपील की है कि भारत में ही स्थान देखकर वहां शूट कर लिया जाए.

FWICE का मालदीव को झटका

फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एंप्लॉयज ने प्रेस रिलीज जारी कर सभी फिल्म प्रोड्यूसर से मालदीव में अपनी शूटिंग बुकिंग रद्द करने की अपील की. उन्होंने इस रिलीज में निर्माताओं से फिल्म शूटिंग के लिए भारत में समान स्थानों को चुनने और भारत में पर्यटन को बढ़ावा देने का आग्रह किया. प्रेस रिलीज में बताया कि, वो ये फैसला मालदीव के तीन मंत्रियों द्वारा भारत के खिलाफ जारी की गई अपमानजनक टिप्पणी के कारण ले रहे हैं. फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एंप्लॉयज ने विश्व स्तर पर सम्मानित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गई ‘गैरजिम्मेदाराना’ और ‘घटिया’ टिप्पणियों की भी निंदा की है.

प्रेस रिलीज जारी कर की अपील

फ्वाइस ने सभी फिल्म निर्माताओं से शूटिंग के लिए वैकल्पिक स्थान चुनने की अपील करते हुए कहा कि, “देश और इसकी व्यापक संस्कृति के साथ एकजुटता दिखाते हुए, FWICE के सदस्यों ने अपने शूटिंग स्थानों के लिए मालदीव का बहिष्कार करने का फैसला किया है. इसके बजाय, FWICE अपने सदस्यों से अपने शूटिंग उद्देश्य के लिए भारत में समान स्थानों को चुनने और भारत में पर्यटन के विकास में योगदान देने की अपील करता है. “भारत और दुनियाभर के सभी निर्माताओं को सलाह दी जाती है कि वे मालदीव में किसी भी शूटिंग या प्रोडक्शन से जुड़ी योजनाएं न बनाएं. हम सभी अपने प्रधानमंत्री और अपने राष्ट्र के प्रति पुरजोर समर्थन में खड़े हैं.” इस रिलीज पर फ्वाइस के मुख्य सलाकार अशोक पंडित, अध्यक्ष बीएन तिवारी, जनरल सेक्रेट्री अशोक दुबे और कोषाध्यक्ष गंगेश्वर श्रीवास्तव का भी नाम है.

कहां से शुरु हुआ था विवाद ?

हम आपको याद दिला दें कि, मालदीव विवाद के बाद से अब तक तमाम लोग मालदीव का बॉयकॉट कर चुके हैं. भारत की बड़ी-बड़ी हस्तियां जो वहां छुट्टियां मनाने जाती थीं, वो भी खुलकर भारतीय द्वीपों का प्रचार कर रही हैं. यहां तक इजरायल ने भी खुले में भारत को सपोर्ट किया है. दूसरी ओर लगातार मालदीव की फ्लाइट बुकिंग, होटल बुकिंग कैंसिल होने की भी खबरें हैं. वहीं, यह पूरा मामला कहां से शुरु हुआ था हम वह भी याद दिला देते हैं. दरअलस, पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लक्षद्वीप गए थे उन्होंने वहां की कुछ तस्वीरें भारत के पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए शेयर की थी. पीएम की पोस्ट के बाद इंटरनेट पर लक्षद्वीप सर्चिंग में टॉप पर आ गया. सोशल मीडिया पर चर्चा शुरू हो गई कि जब भारत में ही इतनी खुबसूरत जगह है तो मालदीव क्यों जाए. ये बात मालदीव के तीन मंत्रियों को पसंद नहीं आई और उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी पर अपमानजनक टिप्पणी कर दी. जिसके बाद कई सेलेब्रेटी पीएम मोदी के सपोर्ट में आ गए और उन्होंने लक्षद्वीप को प्रमोट करना शुरू कर दिया. नतीजा ये हुआ कि भारत के हजारों लोगों ने अपनी मालदीव की टिकट कैंसिल करा दी. सरकार ने तीनों मंत्रियों को निलंबित कर दिया और अब इसमें फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एंप्लॉयज ने फिल्म शूटिंग के लिए मालदीव का बहिष्कार कर उसे तगड़ा झटका दिया है.