Daesh News

यौन शोषण का आरोपी सांसद प्रज्वल रमन्ना गिरफ्तार

BREAKING:- कई महिलाओं के साथ यौन शोषण के आरोपी जेडीएस के निलंबित सांसद प्रज्वल रेवन्ना को SIT की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है. आधी रात को जर्मनी से लौटते ही SIT ने केम्पेगौड़ा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर गिरफ्तार किया है. भारी सुरक्षा के साथ उन्हें पूछताछ के लिए सीआईडी कार्यालय ले जाया गया.

सांसद प्रज्वल रेवन्ना ने 27 मई को एक वीडियो जारी कर 31 मई को एसआईटी के समक्ष पेश होने की बात कही थी. उनके दादा और पूर्व प्रधानमंत्री  एचडी देवेगौड़ा ने उन्हें जांच का सामना करने के लिए कहा था.वे हासन लोकसभा क्षेत्र से भाजपा-जेडी(एस) गठबंधन के उम्मीदवार हैं, उन पर कई महिलाओं के साथ यौन शोषण के आरोप हैं. उन पर अब तक यौन उत्पीड़न के तीन  मामला दर्ज किया जा चुका है.मतदान के एक दिन बाद 27 अप्रैल को वे जर्मनी के लिए रवाना हुए थे.
एसआईटी द्वारा दायर आवेदन के बाद निर्वाचित प्रतिनिधियों के लिए एक विशेष अदालत ने 18 मई को प्रज्वल रेवन्ना के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था. कांग्रेस के नेतृत्व वाली कर्नाटक सरकार ने केंद्र से उनका राजनयिक पासपोर्ट रद्द करने का आग्रह किया है. विदेश मंत्रालय (एमईए) ने प्रज्वल को कारण बताओ नोटिस जारी कर पूछा था कि उनके खिलाफ यौन शोषण के आरोपों के मद्देनजर कर्नाटक सरकार की ओर से मांगे गए अनुसार उनका राजनयिक पासपोर्ट क्यों न रद्द कर दिया जाए सीबीआई के माध्यम से एसआईटी द्वारा अनुरोध किए जाने के बाद इंटरपोल द्वारा उनके ठिकाने की जानकारी मांगने के लिए पहले ही 'ब्लू कॉर्नर नोटिस' जारी किया जा चुका है.
सांसद ने अपने खिलाफ मामलों को झूठा करार देते हुए और राजनीतिक साजिश का आरोप लगाया.  उन्होंने 29 मई को निर्वाचित प्रतिनिधियों के लिए प्रधान शहर और सत्र न्यायालय में अग्रिम जमानत याचिका भी दायर की थी. सत्र न्यायालय ने शुक्रवार को सुनवाई से पहले एसआईटी को आपत्ति दर्ज करने के लिए नोटिस जारी किया था.

इस घोटाले ने कर्नाटक समेत पूरे देश में राजनीतिक तूफान खड़ा कर दिया है. सत्तारूढ़ कांग्रेस और भाजपा-जद (एस) के बीच तीखी नोकझोंक हुई है. कांग्रेस सरकार ने मामलों की जांच के लिए एक एसआईटी का गठन किया है, जबकि भाजपा और जद (एस) - एनडीए के सहयोगी - ने मांग की है कि इसे सीबीआई को सौंप दिया जाए और अश्लील वीडियो के व्यापक प्रसार के पीछे उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाए.यौन शोषण के मामले तब प्रकाश में आए जब 26 अप्रैल को हासन में लोकसभा चुनाव से पहले कथित तौर पर प्रज्वल से जुड़े अश्लील वीडियो वाले कई पेन ड्राइव प्रसारित किए गए.




Scan and join

Description of image