Daesh News

बिग बॉस 17 का खिताब हुआ मुनव्वर फारुकी के नाम, 'फिक्स्ड विनर' कहे जाने पर दिया रिएक्शन

बिग बॉस का 17वां सीजन समाप्त हो गया है. मुनव्वर फारुकी ने इस शो को अपने नाम कर लिया है. 28 जनवरी को ही शो का ग्रैंड फिनाले था, जिसमें मुनव्वर ने अभिषेक कुमार को हरा दिया है. इसी के साथ उन्होंने 50 लाख रुपये और एक नई कार जीती. बिग बॉस 17 में स्टैंड-अप कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी का सफर काफी कॉन्ट्रोवर्सी से भरा रहा है. हर दिन कई तरह की गतिविधियां बिग बॉस हाउस में देखने के लिए मिली. खुद के रिश्तों को लेकर भी कई बार उन्हें सुनना पड़ा. हालांकि, मुनव्वर ने किसी भी दावे को झूठा नहीं बताया और नेशनल टेलिविजन पर माफी के साथ सब कुछ स्वीकार कर लिया. 

मुनव्वर पर लगाया 'फिक्स्ड विनर' का आरोप

बिग बॉस के अपने उस सफर में कई उतार-चढ़ाव का सामना करने के बाद, मुनव्वर ने आखिरकार बिग बॉस सीजन 17 की ट्रॉफी अपने नाम कर ही ली. लेकिन, अभी भी मुनव्वर से जुड़ा विवाद खत्म नहीं हुआ है. दरअसल, बिग बॉस की ट्रॉफी जीतने के बाद मुनव्वर पर 'फिक्स्ड विनर' होने के आरोप लगाए गए. कई जगह इसकी चर्चा होती रही. वहीं, इस आरोप को लेकर स्टैंड-अप कॉमेडियन से सिंगर बने मुनव्वर फारूकी ने हाल ही में एक इंटरव्यू में खास बातचीत की. इस दौरान उन्होंने अपनी इमेज को नुकसान पहुंचाने वाले आरोपों पर खुलकर रिएक्ट किया. उन्होंने अपने बेटे मिखाइल के बारे में भी खुलकर बात की और बताया कि, वह कैसे चाहेंगे कि उनका बेटा उनकी गलतियों से सीखे और उन्हें न दोहराए.

मुनव्वर ने दी जीत पर प्रतिक्रिया 

बातचीत के दौरान मुनव्वर फारूकी ने अपनी जीत पर कहा कि, 'पहले दिन से जो यकीन था वही आखिरी दिन था... मैं शो जीतने के लिए बिग बॉस 17 के घर के अंदर गया और एक सेकंड के लिए भी मैं अपने सपने के बारे में नहीं भूला. ध्यान भटक रहा था और मुझे लगा कि मुझे खेल से ध्यान भटकाना होगा और समस्याओं को ठीक करना होगा'. आगे मुनव्वर ने यह भी कहा कि, 'पंक्चर है तो पहले आपको गाड़ी ठीक करनी होगी वरना आप मंजिल तक नहीं पहुंचोगे, मैं सब कुछ ठीक करने के लिए तैयार था. यह जीत और प्यार जो मुझे मिला है वह फैंस और भगवान की वजह से है. मुझे काफी टेंशन है, क्योंकि मुझे ऐसे सवालों का सामना करना पड़ रहा है, जिनके बारे में मुझे जानकारी नहीं है. लेकिन, मुझे उनका जवाब देना है. लोग मेरे खिलाफ जो टैग इस्तेमाल कर रहे हैं, वे मुझे परेशान कर रहे हैं'.

'फिक्स्ड विनर' को लेकर मुनव्वर की प्रतिक्रिया

इस बातचीत के दौरान मुनव्वर ने 'फिक्स्ड विनर' कहे जाने पर भी प्रतिक्रिया दी और कहा कि, 'यार 'फिक्स्ड विनर' को इतना सब करना पड़े तो ये फिक्स्ड विनर नहीं हो सकता. अगर मैं फिक्स्ड विजेता होता तो मुझे सब कुछ एक थाली में मिल जाता. पूरा सीजन गवाह है कि मेरे पास थाली में कुछ नहीं था, मैंने कड़ी मेहनत की है और बहुत कुछ किया है'.आगे मुनव्वर फारूकी ने कहा कि, 'जो लोग मुझे 'फिक्स्ड विनर' कह रहे हैं, उनके लिए मेरा जवाब है कि बस बैठकर पूरा सीजन देखें और आपको एहसास होगा कि यह तय नहीं था. मुझे लगता है. ये प्यार है लोगों का और जो लोग मुझे फिक्स्ड विनर कह रहे हैं मैं उनकी राय नहीं बदल सकता'. वहीं, टॉप 5 में मुनव्वर फारुकी, अंकिता लोखंडे, अभिषेक कुमार, मन्नारा चोपड़ा और अरुण महाशेट्टी थे. अरुण महाशेट्टी टॉप 5 में से बाहर जाने वाले पहले कंटेस्टेंट थे. इसके बाद अंकिता लोखंडे शो से बाहर हुईं. टॉप 3 में मन्नारा चोपड़ा पहुंची थीं. हालांकि, टॉप 2 का हिस्सा मन्नारा चोपड़ा नहीं बन पाई.

ग्रैंड फिनाले में थे टॉप 5 कंटेस्टेंट

बिग बॉस 17 के बारे में बात करें तो बता दें कि शो का प्रीमियर 15 अक्टूबर को हुआ था. शो की थीम इस बार दिल-दिमाग और दम पर बेस्ड थी. बिग बॉस ने तीन अलग-अलग मकान बनाए थे, जिनके नाम दिल-दिमाग और दम रखे थे. घरवालों को तीनों कमरों में बांट दिया था. घर को शुरुआती कई हफ्तों तक दिमाग के घरवालों ने चलाया था. शो में सभी कंटेस्टेंट्स ने अपना बेस्ट दिया. वहीं, कुल मिलाकर देखें तो, इस बार शो में गेम से ज्यादा कंटेस्टेंट्स की पर्सनल लाइफ पर फोकस रहा. लेकिन, आखिरकार ट्रॉफी मुनव्वर फारुकी के खाते में गई.