Daesh News

अभी-अभी: निलेश मुखिया हत्याकांड में पटना पुलिस की बड़ी कार्रवाई, आरोपियों के घर की हुई कुर्की जब्ती

निलेश मुखिया हत्याकांड मामले में पुलिस ने बड़ा एक्शन लिया है. पुलिस ने इस मामले में आरोपी पप्पू, धप्पू औरर गोरख राय के घर कुर्की जब्ती की कार्रवाई शुरू कर दी है. निलेश मुखिया की पत्नी वार्ड पार्षद सुचित्रा सिंह ने इन तीनों भाइयों को नामजद आरोपी बनाया था.  घटना के दिन से पुलिस इनको ढूंढ रही थे. ये तीनों भाई फरार थे.

दरअसल, पुलिस ने इस मामले में आरोपी पप्पू, धप्पू और गोरख राय के घर की कुर्की जब्ती का वारंट कोर्ट से मंगलवार को ले ली थी, जिसके बाद बुधवार को पुलिस ने कुर्की जब्ती की कार्रवाई शुरू कर दी है. पुलिस ने आरोपियों को आत्मसमर्पण करने का अंतिम मौका दिया था. इसके बावजूद आरोपियों ने आत्मसमर्पण नहीं किया जिसके बाद पुलिस ने आरोपियों के घर पर कुर्की जब्ती की कार्रवाई शुरू कर दी है. पिछले 45 दिनों से तीनों आरोपी फरार चल रहे हैं.

पटना पुलिस दीघा और पाटलिपुत्र इलाके में कुर्की की कार्रवाई कर रही

पटना पुलिस दीघा और पाटलिपुत्र इलाके में कुर्की की कार्रवाई कर रही है. साथ ही फरार चल रहे आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए भी छापेमारी जारी है. मंगलवार को कोर्ट से इजाजत के बाद पुलिस की कर्रवाई जारी है. इसके पहले पुलिस ने आरोपियों के घर पर इश्तेहार चिपकाया था, लेकिन तीनों आरोपियों में से किसी ने भी अब तक सरेंडर नहीं किया है.

31 जुलाई को निलेश मुखिया को अपराधियों ने कुर्जी मोड़ पर गोली मार दी थी

गौरतलब है कि 31 जुलाई को निलेश मुखिया को अपराधियों ने कुर्जी मोड़ पर गोली मार दी थी. इसके बाद निलेश को पाटलिपुत्र के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया. उन्हें बेहतर इलाज के लिए 7 अगस्त को दिल्ली एम्स ले जाया गया. एम्स में ही 23 अगस्त को उनकी मौत हो गई. जिसके बाद पुलिस ने 14 अगस्त को शूटर राजा के साथ लाइनर शाहनवाज को गिरफ्तार किया. इस दोनों से मिले इनपुट के आधार पर पुलिस ने दो शूटर क्योस खान और उसके भाई मो. इमरान उर्फ लल्लू को 9 सितंबर को जेपी गंगा पथ से उठाया. दोनों भाई सुल्तानगंज थाना के कर्बला रोड के रहने वाले हैं.

इसी दिन दोनों भाइयों के इनपुट पर 10 लाख की सुपारी देने और लेने वाले के बीच के कॉर्डिनेटर विकास को पुलिस ने गिरफ्तार किया. विकास इमरान को पहले से जानता था. इसीलिए ये डील उसने कराई. विकास दानापुर क्षेत्र का रहने वाला है. फिलहाल पुलिस बाकी के बचे हुए आरोपियों की गिरफ्तार करने के लिए लगातार छापेमारी कर रही है. अभी भी इस मामले में तीन लाइनर व एक शूटर पुलिस गिरफ्त से बाहर हैं.