Daesh News

‘नीतीश ने महिला को हाथों से छुआ और फिर अपना मुंह उसके....’ यौन कुंठा से ग्रस्त हैं नीतीश कुमार- सुशील मोदी

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक बार फिर चर्चा में है. विधानसभा में गर्भनिरोधक के तरीकों के बारे में बात करने के लिए उनकी काफी चर्चा हुई थी. हालांकि, यह उनकी आलोचना थी. अब नीतीश कुमार ने अपने एक कार्यक्रम की संचालिका (एंकर) के कंधे पर हाथ रख दिया और उनसे चुटकी ले ली. इस पर नीतीश कुमार की फिर चर्चा हो रही है. हालांकि, भाजपा नेता सुशील मोदी ने इसे नीतीश कुमार की यौन कुंठा बताया है.

दरअसल, बिहार के सीएम एवं जदयू के सुप्रीमो नीतीश कुमार गुवार (21 दिसंबर 2023) को पटना के वेटनरी कॉलेज ग्राउंड पहुंचे थे. यहां पर पशु संसाधन विभाग का एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था. जब सीएम नीतीश कार्यक्रम में पहुंचे तो महिला एंकर ने स्वागत करते हुए कहा, “सादर निवेदन माननीय मुख्यमंत्री महोदय से कि वो मंच पर आकर स्थान ग्रहण करें.”

इसके बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मंच की ओर बढ़े और एंकर को पास जाकर अपने दोनों हाथों उसके कंधे पर हाथ रख दिया और कहा, “आपका अभिनंदन”. इसके बाद महिला एंकर मुस्कुराने लगी और कहा, थैंक यू सर…थैंक यू सो मच”. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इस व्यवहार को देखकर वहां खड़े अधिकारियों एवं लोगों के चेहरे पर मुस्कान तैर गई.

नीतीश कुमार के इस अंदाज पर राज्यसभा सांसद और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने उन पर तंज कसा है. सुशील मोदी ने नीतीश कुमार के इस व्यवहार को उनकी यौन कुंठा बताया और कहा कि उन्हें अपने आचरण और वाणी पर नियंत्रण नहीं है. भाजपा नेता ने उद्घोषिका का नाम सोमा चक्रवर्ती बताया.

अपने एक्स पोस्ट में सुशील मोदी ने कहा, “नीतीश कुमार ने महिला उद्घोषिका सोमा चक्रवर्ती को दोनों हाथों से सार्वजनिक मंच पर स्पर्श करते हुए उनके चेहरे के बहुत पास अपना मुंह ले जाकर जिस शरारतपूर्ण ढंग से ‘आपका भी अभिवादन’ कहा, वह अत्यंत शर्मसार करने वाली घटना है. उन्होंने कहा कि सीएम की गहरी यौन कुंठा के कारण उनके शब्दों, संकेतों और सार्वजनिक व्यवहार से महिलाओं को लज्जित-अपमानित करने की घटनाएँ बार-बार हो रही हैं.”

भाजपा सांसद ने आगे कहा, “नीतीश कुमार ने पिछले दिनों विधान मंडल के दोनों सदनों में प्रजनन दर रोकने की चर्चा करते हुए ऐसी भाषा का उपयोग किया, जिससे महिला सदस्य अपमानित महसूस कर रो पड़ी थीं. उन्होंने कहा कि सदन में अपने अश्लील वक्तव्य के कारण नीतीश कुमार ने जीवन में पहली बार बिना शर्त क्षमा याचना की थी. इससे पहले वे भाजपा की महिला विधायक निकी हेम्ब्रम पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर चुके हैं.”

नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए राज्यसभा सांसद ने कहा, “नीतीश कुमार की मानसिक स्थिति को देखते हुए जदयू को अब नया नेता चुन लेना चाहिए, अन्यथा एक संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति से महिलाओं के अपमान की कोई बड़ी घटना हो सकती है. उन्होंने कहा कि बिहार की चर्चित उद्घोषिका और वरिष्ठ रंगकर्मी सोमा चक्रवर्ती को साहस कर नीतीश कुमार पर यौन उत्पीड़न का मामला दर्ज कराना चाहिए.”