Daesh News

9वीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे नीतीश कुमार, Bihar में 'नई सरकार' का प्लान तैयार !

बिहार की राजनीति के लिए रविवार का दिन 'सुपर संडे' साबित हो सकता है. बीजेपी ने रविवार को सुबह 9 बजे बैठक बुलाई है. वहीं, जेडीयू की रविवार सुबह 10 बजे विधानमंडल दल की बैठक होगी. सूत्रों के मुताबिक बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार रविवार को ही शाम 4 बजे 9वीं बार सीएम पद की शपथ ले सकते हैं. जेपी नड्डा नीतीश के नौंवे शपथ ग्रहण में शामिल हो सकते हैं.

उधर, शनिवार का दिन भी बिहार में राजनीतिक गहमागहमी में बीता. शनिवार को आरजेडी और बीजेपी की बड़ी बैठक हुई. लालू के आवास पर हुई बैठक में जहां तेजस्वी ने कहा कि बिहार में अभी खेल होना बाकी है. वहीं, बीजेपी की बैठक के बाद प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी ने अपने सभी विधायकों को सोमवार शाम तक बिहार में रहने के लिए कहा है. उधर, बिहार सचिवालय की छुट्टी रद्द कर दी गई है, यानि रविवार को सचिवालय खुला रहेगा.  

बता दें कि 28 जनवरी यानी रविवार की सुबह 10 बजे जेडीयू विधानमंडल दल की बैठक है. उसके बाद सीएम हाउस में ही एनडीए विधानमंडल दल की बैठक होगी. बैठक के बाद दोपहर 12 बजे राज्यपाल से मुलाक़ात कर नीतीश अपना इस्तीफ़ा सौपेंगे. साथ ही एनडीए विधायकों के समर्थन वाला लेटर देंगे. फिर 4 बजे शपथ ग्रहण होगा. नीतीश कुमार ने पहली बार - 3 मार्च 2000, दूसरी बार - 24 नवंबर 2005, तीसरी बार - 26 नवंबर 2010, चौथी बार - 22 फरवरी 2015, पांचवी बार 20 नवंबर 2015, छठी बार - 27 जुलाई 2017, सातवीं बार - 16 नवंबर 2020, आठवीं बार - 9 अगस्त 2022 को सीएम पद की शपथ ली थी.

तेजस्वी बोले- मैंने हमेशा नीतीश का सम्मान किया

शनिवार को आरजेडी के नेताओं की बड़ी बैठक हुई. इसमें लालू प्रसाद, उनकी पत्नी और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के अलावा राज्य विधानमंडल के सदस्यों समेत कई वरिष्ठ नेता शामिल हुए. बैठक में तेजस्वी यादव ने कहा कि मैंने गठबंधन धर्म को निभाया है. मैंने हमेशा नीतीश का सम्मान किया. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मेरे साथ मंच पर बैठते थे और पूछते थे कि 2005 से पहले बिहार में क्या था? मैंने कभी प्रतिक्रिया नहीं दी. अब हमारे साथ अधिक लोग हैं, दो दशकों में जो कुछ भी अधूरा रह गया था, हम उसे हासिल करने में कामयाब रहे. भले ही नौकरियां हों, जाति जनगणना हो, आरक्षण बढ़ाना हो, थोड़े ही समय में हमने ये किया है. तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार में अभी खेल होना बाकी है.

जीतन राम मांझी ने रखी ये मांगें

इस सियासी उठापटक के बीच RJD और बीजेपी दोनों ही तरफ से बिहार के पूर्व सीएम और HAM के मुखिया जीतन राम मांझी को अपनी तरफ लाने की कोशिश जारी है. एक ओर जहां राहुल गांधी ने मांझी को फोन कर INDIA गठबंधन में आने का न्योता दिया. वहीं, शनिवार शाम को हिंदुस्तानी आवास मोर्चा के चार विधायकों की मीटिंग हुई. इस मीटिंग के बाद जीतन राम मांझी ने अपना रुख स्पष्ट कर दिया. उन्होंने कहा कि जहां पीएम मोदी, वहां HAM. सूत्रों के मुताबिक जीतनराम मांझी ने 2 मंत्री पद मांगे हैं. उन्होंने कहा है कि नई सरकार में दो मंत्री HAM के हों. इतना ही नहीं, जीतनराम मांझी के आवास के बाहर ये पोस्टर भी लग गए कि बिहार में बहार है, बिना मांझी सब बेकार है. वहीं, आरजेडी कोटे के सभी मंत्रियों ने आज अपना कामकाज खत्म किया. आवासीय कार्यालय पर पड़ी विभागीय फाइलों को वापस सचिवालय भेज दिया है. साथ ही डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने 3 घंटे तक विभागीय काम निपटाया.

बीजेपी विधायकों को सोमवार शाम तक पटना में रहने के निर्देश

सियासी संग्राम के बीच बिहार में बीजेपी की बैठक हुई. इसमें बिहार बीजेपी अध्यक्ष सम्राट चौधरी ने बीजेपी विधायकों को सोमवार शाम तक पटना में रहने के लिए कहा है. बिहार बीजेपी के प्रदेश पदाधिकारियों, सांसदों और विधायकों ने बैठक में लोकसभा चुनाव प्रस्ताव पास किया गया है दूसरे प्रस्ताव में ये तय किया गया कि मोदी सरकार द्वारा कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न दिए जाने की बात बिहार के घर-घर तक पहुचाएं. उधर, बीजेपी के बिहार प्रभारी विनोद तावड़े ने देर रात राज्यपाल से मुलाकात की.

चिराग पासवान ने दिए ये संकेत

सूत्रों की मानें तो चिराग पासवान ने नीतीश की एनडीए में वापसी पर चिंता जाहिर की है. चिराग ने कहा कि एलजेपी (रामविलास) बिहार फर्स्ट, बिहारी फर्स्ट की नीति पर काम करना चाहती है. भाजपा एक बड़ी पार्टी है, लेकिन उसे बिहार के लिए न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर काम करना चाहिए. साथ ही कहा कि हमारी सीटें कम नहीं होनी चाहिए. सूत्रों के मुताबिक अगर बात नहीं बनी तो चिराग पासवान की पार्टी बिहार में 23 सीटों अकेले चुनाव लड़ेगी. तेजस्वी से बातचीत पर चिराग ने कहा कि दुश्मन का दुश्मन का दोस्त होता है. लेकिन मैं बहुत स्पष्ट हूं कि मैं एनडीए गठबंधन में हूं. लेकिन विकल्प हमेशा खुले हुए हैं. 

रविवार को बिहार सचिवालय की छुट्टी रद्द

अटकलों के बीच बिहार सचिवालय की छुट्टी रद्द कर दी गई है, यानि रविवार को सचिवालय खुला रहेगा. कैबिनेट ऐसी जगह है जहां से ही सारी चीजें संचालित होती हैं. इसके अलावा राजभवन भी रविवार को खुला रहेगा. इससे साफ है कि रविवार का दिन बिहार के लिए 'सुपर संडे' साबित होने वाला है. उधर, नीतीश कुमार शनिवार को बक्सर पहुंचे. उनके साथ बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे भी नजर आए. बीजेपी नेता राधा मोहन सिंह ने बिहार के राज्यपाल राजेंद्र आर्लेकर से राजभवन में मुलाकात की.