Daesh News

बीजेपी को अब बस राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा का इंतजार, उसके बाद पूरे यूपी-बिहार में दिखेगा जोश

अयोध्या के राम मंदिर में 22 जनवरी को होने वाले प्राण प्रतिष्ठा के लेकर पूरा देश राममय हो गया है. अयोध्या नगरी में तो विशेष रुप से तैयारियों को अंतिम रुप दिया जा रहा है. पूरे शहर को दुल्हन की तरह सजा दिया गया है. जगह-जगह श्रीराम की छाप देखने के लिए मिल रही है. अयोध्या में बने राम मंदिर के गर्भगृह में रामलला के बाल स्वरूप मूर्ति शुक्रवार को रखी गई. इसकी तस्वीरें खूब सोशल मीडिया पर वायरल हुईं. इसमें रामलला की आंखों पर पट्टी बंधी थी, जिसे प्राण प्रतिष्ठा के बाद हाटाया जाएगा. वहीं, प्राण प्रतिष्ठा को लेकर कहा जा रहा कि, श्रीराम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के बाद बाजेपी का चुनावी अभियान जमीन पर आकार लेने लगेगा.

यूपी-बिहार में होगा बड़ा कार्यक्रम

दरअसल, बीजेपी के चुनावी एजेंडे को लेकर कहा जा रहा कि, पार्टी की क्लस्टर रणनीति पर अमल शुरू हो गई है और जल्द बड़े नेताओं के दौरे भी शुरू होंगे. हालांकि, पार्टी पहले से ही इससे जुड़े कई कार्यक्रम कर रही है. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगामी कार्यक्रम भी इसी का हिस्सा होंगे. जो कुछ भी चुनाव के लेकर बीजेपी की ओर से जो तैयारियां की गई है उसे लेकर कहा जा रहा कि, पीएम नरेंद्र मोदी 25 जनवरी को उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में और 27 जनवरी को बिहार के बेतिया में कार्यकर्ताओं के सम्मेलन और रैली को संबोधित करेंगे. इसके साथ ही इस दौरान उनके सरकारी कार्यक्रम भी होंगे. बीजेपी ने अपनी चुनावी रणनीति को धार देते हुए देशभर में लोकसभा सीटों के 146 क्लस्टर बनाकर हर क्षेत्र की तैयारी शुरू कर दी है. इन सभी क्लस्टर में पार्टी के बड़े नेताओं के दौरे होंगे. पार्टी की कोशिश है कि, उसके नेता सभी क्लस्टर में जाकर कम से कम एक कार्यक्रम जरूर करें.

प्रधानमंत्री की रैलियां मानी जा रही अहम

इस बीच खबर यह भी है कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 25 जनवरी को बुलंदशहर में होने वाली रैली भी को भी इसी से जोड़कर देखा जा रहा है. उस दिन प्रधानमंत्री कुछ परियोजनाओं के लोकार्पण और अन्य कार्यक्रमों में भी हिस्सा लेंगे. इसके अलावा वह ब्रज क्षेत्र के कार्यकर्ताओं की एक रैली को भी संबोधित करेंगे. याद हो कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 और 2019 के चुनावी अभियान की शुरुआत पश्चिमी उत्तर प्रदेश से ही की थी. 2014 में बुलंदशहर जबकि 2019 में मेरठ में सभा की थी. हालांकि, पार्टी ने इसे अपने मुख्य चुनाव अभियान की शुरुआत नहीं बताया है, लेकिन पार्टी नेताओं का कहना है कि पार्टी चुनाव मूड में है और लगातार प्रधानमंत्री के कार्यक्रम देशभर में हो रहे हैं. रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद पार्टी का देशभर में क्लस्टर अभियान शुरू हो रहा है. ऐसे में प्रधानमंत्री की यह रैलियां काफी महत्वपूर्ण हो जाती है.

फिर बिहार आ रहे जेपी नड्डा

इधर, आपको बता दें कि, बिहार में सियासी पारा इन दिनों चढ़ा हुआ है. दरअसल, नीतीश कुमार को लेकर सियासी गलियारे में तरह-तरह की बातें हो रही हैं, इस बीच बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा का भी बिहार आने का कार्यक्रम बन रहा है. बीजेपी की ओर से अब तक आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन सूचना है कि 30 जनवरी को जेपी नड्डा बिहार आ रहे हैं. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बिहार के कटिहार जिले में एक बड़ी जनसभा को संबोधित करेंगे. नड्डा का यह दौरा कई मायनों में बेहद अहम माना जा रहा है. कुल मिलाकर अगर बीजेपी की गतिविधियों को देखा जाए तो ऐसा कहा जा रहा कि, भारतीय जनता पार्टी का मिशन 2024 शुरू हो चुका है. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा इसी मिशन के तहत बिहार आ रहे हैं. 30 जनवरी को नड्डा सीमांचल में मतदाताओं को साधने के लिए कटिहार में बड़ी सभा को संबोधित करेंगे. इसके साथ ही साथ नड्डा पार्टी के नेताओं के साथ ताजा सियासी हालात को लेकर बैठक करेंगे. बैठक के दौरान वो आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर पार्टी नेताओं को टास्क भी देंगे. इसके साथ ही नीतीश कुमार को लेकर भी पार्टी की आगामी रणनीति पर उनका पार्टी नेता और पदाधिकारियों के साथ विचार-विर्मश की उम्मीद की जा रही है.