Daesh News

एक बार फिर जंग के साये में मिडिल ईस्ट, हमास ने दागे 5000 रॉकेट, इजरायल ने की युद्ध की घोषणा

फिलिस्तीनी आतंकियों की ओर से इजरायल पर रॉकेट दागे जाने के बाद इजरायल ने युद्ध की घोषणा कर दी है. समाचार एजेंसी एएफपी के अनुसार, शनिवार तड़के फिलिस्तीनी आतंकियों ने इजरायल के क्षेत्रों पर दर्जनों रॉकेट दागे हैं, जिससे एक महिला की मौत भी हो गई है. इस हमले के बाद इजरायल ने युद्ध की घोषणा कर दी है. इजरायल सरकार ने अपने नागरिकों को घर के अंदर रहने की सलाह दी है. 

रिपोर्ट के मुताबिक, गाजा पट्टी की की तरफ से इजरायल के कई रिहायशी इलाकों पर रॉकेट दागे गए हैं. इजरायल की सेना ने कहा है कि हवाई हमले को लेकर अलर्ट करने वाले सायरन की आवाज आर्थिक और सांस्कृतिक राजधानी तेल-अवीव तक सुनाई दी है.

रिपोर्ट के मुताबिक, शनिवार तड़के हुई यह बमबारी लगभग 30 मिनट तक चली. इजराइल की बचाव दल 'मैगन डेविड एडोम' ने कहा है कि दक्षिणी इजराइल में एक इमारत पर रॉकेट गिरने से 70 वर्षीय महिला गंभीर रूप से घायल हो गई है. इसके अलावा एक 20 वर्षीय व्यक्ति भी मामूली रूप से घायल है.

इजरायल के खिलाफ नए सैन्य अभियान की शुरुआतः हमास

फिलिस्तीनी आतंकियों की ओर से इजरायल पर ऐसे समय में रॉकेट लॉन्च किया गया है जब हाल ही में गाजा और इजरायल की अस्थिर सीमा पर हफ्तों तक तनाव का माहौल बना रहा.

फिलिस्तीनी आतंकी संगठन हमास के नेता मोहम्मद डेफ ने बयान जारी करते हुए कहा है कि हमास ने इजरायल के खिलाफ एक नया सैन्य अभियान शुरू किया है. इस ऑपरेशन का नाम "ऑपरेशन अल-अक्सा स्टॉर्म" रखा गया है. डेफ के मुताबिक, इस ऑपरेशन को शुरू करने के लिए हमास ने इजरायल में शनिवार तड़के पांच हजार रॉकेट दागे हैं. 

डेफ ने अपने बयान में कहा है, हमने यह फैसला किया है कि अब बहुत हो गया. हम सभी फिलिस्तीनियों से इजरायल का सामना करने का आग्रह करते हैं." मोहम्मद डेफ को इजरायल ने कई बार मारने की कोशिश की है लेकिन वह हर बार बच जाता है. 

क्या है गाजा पट्टी का पूरा विवाद ?

गाजा पट्टी एक छोटे सा फिलिस्तीनी क्षेत्र है, यह मिस्र और इसरायल के मध्य भूमध्यसागरीय तट पर स्थित है. फिलिस्तीन अरबी और बहुसंख्य मुस्लिम बहुल इलाका है. इस पर 'हमास' द्वारा शासन किया जाता है जो इजरायल विरोधी आतंकवादी समूह है. वो यूं क्योंकि फिलिस्तीन और कई अन्य मुस्लिम देश इजरायल को यहूदी राज्य के रूप में मानने से इनकार करते हैं.

1947 के बाद जब UN ने फिलिस्तीन को एक यहूदी और एक अरब राज्य में बांट दिया था जिसके बाद से फिलिस्तीन और इजरायल के बीच संर्घष जारी है जिसमें एक अहम मुद्दा जुइस राज्य के रूप में स्वीकार करना है तो दूसरा गाजा पट्टी है जो इजराइल की स्थापना के समय से ही इजरायल और दूसरे अरब देशों के बीच संघर्ष का कारण साबित हुआ है.