Daesh News

खुशखबरी! बिहार को एक और वंदेभारत की सौगात, पटना-हावड़ा रूट पर अगस्त से चलेगी ट्रेन, जानिए किराया-रूट

बिहार को एक और वंदेभारत एक्सप्रेस ट्रेन की सौगात मिलने जा रही है. पटना- हावड़ा रूट पर इसी महीने से ये सेमी हाई-स्पीड ट्रेन शुरू करने की तैयारी है. पटना टू पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के लिए सबसे तेज रेल कनेक्टिविटी को लेकर वंदेभारत ट्रेन की तैयारी पूरी है. रेलवे अगस्त के पहले या दूसरे सप्ताह में पटना और हावड़ा के बीच सेमी हाई-स्पीड वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन शुरू करने की संभावना है. हालांकि फाइनल डेट अभी तय नहीं की गई है.

पटना टू हावड़ा के लिए वंदेभारत


27 जून को पटना-रांची मार्ग पर ट्रेन की सफल शुरुआत के बाद यह बिहार के लिए दूसरी वंदे भारत एक्सप्रेस होगी. ईसीआर के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी बीरेंद्र कुमार ने बताया कि पटना-हावड़ा रूट पर वंदे भारत ट्रेन को सफलतापूर्वक शुरू करने के लिए तैयारी चल रही. इसके के लिए रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पूर्व मध्य रेलवे (ईसीआर) मुख्यालय और दानापुर खंड के वरिष्ठ रेलवे अधिकारियों के बीच एक हाईलेवल मीटिंग हुई.

इस रूट पर चलेगी ट्रेन


दानापुर में रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, रेलवे ने पटना-हावड़ा मार्ग पर प्रमुख वंदे भारत एक्सप्रेस चलाने के लिए जमीनी तैयारी शुरू कर दी है. उन्होंने कहा कि ट्रेन के समय और किराए पर काम किया जा रहा है. ईसीआर और पूर्वी रेलवे दोनों की पटना-झाझा-आसनसोल-हावड़ा मेन लाइन पर पटरियों को और मजबूत करने का काम हो रहा.

दानापुर डिविजन में तैयारियां पूरी


पटना-हावड़ा वंदे भारत एक्सप्रेस अगर 90 किलोमीटर प्रति घंटे से 110 किलोमीटर प्रति घंटे की सामान्य गति से चलती है तो ये लगभग सात घंटे में कुल 535 किलोमीटर की दूरी तय करेगी. रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि वंदे भारत की अधिकतम स्पीड 160 किलोमीटर प्रति घंटे के आस-पास रहती है. अभी दानापुर डिवीजन चेन्नई से रेक के आने का इंतजार कर रहा है.

पटना-हावड़ा रूट पर क्या रहेगा किराया


रेलवे ने पटना हावड़ा रूट पर वंदेभारत के लिए किराया तय नहीं किया है. जानकारी के मुताबिक, एसी एग्जीक्यूटिव क्लास के लिए किराया 2,650 रुपये प्रति यात्री और एसी चेयर कार के लिए 1,450 रुपये प्रति यात्री होने की संभावना है. जिसमें खाना/नाश्ता भी शामिल होगा. इसके अलावा, रेलवे ने अभी तक ट्रेन के स्टॉपेज पर काम नहीं किया है. लेकिन इसके आसनसोल और जसीडीह में केवल दो जगहों पर रूकने की संभावना है.