Daesh News

पटना में डेंगू के बढ़ते मरीजों के बीच हड़ताल पर गए सफाई कर्मी, रखी ये मांगें

बिहार में डेंगू का मामला काफी बढ़ा हुआ है और राजधानी पटना हॉटस्पॉट बना हुआ है. पटना में प्रतिदिन 100 के करीब नए मामले सामने आ रहे हैं. पटना में डेंगू के मामलों की संख्या 800 से अधिक है. ऐसे में जहां शहर की साफ सफाई नगर निगम की प्रमुख जिम्मेदारी है, इसी बीच नगर निगम के सफाई कर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं. लगभग 8000 सफाई कर्मी हैं, जो हड़ताल पर रहेंगे. हालांकि इस दौरान भी पटना नगर निगम द्वारा शहर की सफाई व्यवस्था को सुचारू रूप से बरकरार रखने के लिए सफाई कर्मियों द्वारा लगातार सफाई की जा रही है.

शहर में डेंगू के प्रकोप को देखते हुए फॉगिंग एवं एंटी लार्वा के छिड़काव के लिए भी लगातार टीम एक्टिव है. डॉक्टरों की मॉनिटरिंग में नगर निगम द्वारा प्रतिदिन फॉगिंग किया जा रहा है. मशीनों द्वारा सड़कों की धुलाई की जा रही है. एवं डोर टू डोर वाहनों से कूड़ा उठाव भी दिन के साथ रात्रि में भी सुनिश्चित किया जा रहा है. इसके साथ ही शहर में डेंगू को देखते हुए फॉगिंग एवं एंटी लार्वा के छिड़काव के लिए भी लगातार टीम एक्टिव है. 

उपद्रवियों पर रखी जा रही है सीसीटीवी से नजर

शहर में पटना स्मार्ट सिटी द्वारा लगाए गए सीसीटीवी कैमरे से नगर आयुक्त के निर्देश पर न सिर्फ शहर की सफाई व्यवस्था की मॉनिटरिंग की जा रही है. बल्कि उपद्रवियों को भी चिन्हित किया जा रहा है बीते रात नूतन राजधानी अंचल में जीपीओ गोलंबर के पास सफाई कार्य में बाधा पहुंचाने वाले चिन्हित कर्मी एवं अन्य अज्ञात पर कार्रवाई की गई है. यह सभी रात्रि कार्य में बाधा पहुंचा रहे थे और सफाई कर्मियों से मारपीट कर रहे थे उनके खिलाफ स्थानीय थाने में शिकायत दर्ज करवाई गई है. स्मार्ट सिटी के कैमरे से लगातार इन पर नजर रखी जा रही है.

17 सूत्रीय मांगों की लंबी लिस्ट

हड़ताल पर जाने से पहले बुधवार की शाम मौर्यालोक परिसर स्थित पटना नगर निगम मुख्यालय में पटना नगर निगम संयुक्त कर्मचारी समन्वय समिति के बैनर तले दैनिक कर्मियों और सफाई कर्मियों ने प्रदर्शन किया. इस मौके पर समन्वय समिति के अध्यक्ष चंद्र प्रकाश सिंह ने कहा कि पटना नगर निगम प्रशासन ने तमाम रास्ते बंद कर दिए जिसके कारण अब कर्मचारियों को अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाना पड़ रहा है.