Daesh News

द बर्निंग ट्रेन बनने से बची पुरबिया एक्सप्रेस, बाल-बाल बचे लोग, अफरा-तफरी का माहौल कायम

बिहार में एक बार फिर से बड़ा रेल हादसा होते-होते रह गया. घटना के दौरान मौके पर अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया. लेकिन, किसी तरह काफी मशक्कत के बाद स्थिति को काबू में किया गया. दरअसल, यह पूरा मामला सहरसा जिले का है जहां के  सिमरी बख्तियारपुर स्टेशन पर घटना घट गई. आनंद बिहार से सहरसा आ रही पुरबिया एक्सप्रेस ट्रेन जब सहरसा मानसी रेलखंड के सिमरी बख्तियारपुर पहुंची तो अचानक ट्रेन के एस 4 बॉगी के नीचे स्थित ब्रेक शू में आग लग गई. आग की लपटें अचानक तेज होने लगी और धुंआ पूरे स्टेशन परिसर के तरफ फैलने लगा. 

अचानक लगी आग से यात्रियों के बीच अफरा-तफरी का माहौल बन गया. यात्री समान लेकर बॉगी खाली कर सुरक्षित स्थानों की ओर भागने लगे. हालांकि, स्थानीय स्तर पर आग को अग्निशमन यंत्र से बुझाने का प्रयास किया जाने लगा. वहीं, अग्निशमन दस्ता भी सूचना मिलते ही स्टेशन पहुंचा तब तक यात्रियों एवं रेलवे कर्मियों की सूझबूझ से आग को नियंत्रित कर लिया गया. आग नियंत्रित होने पर यात्रियों सहित रेलवे ने भी राहत की सांस ली. वहीं, आनंद बिहार सहरसा पुरबिया एक्सप्रेस में लगी आग मामले को समस्तीपुर मंडल के डीआरएम विनय कुमार श्रीवास्तव ने गंभीरता से लेते हुए इसकी जांच का आदेश दिया.

उन्होंने बताया कि, घटना के वक्त हम सभी कंट्रोल रूम में ही थे. दरअसल, यह प्रथम दृष्टया ब्रेक बाइंडिंग के वजह से लगी आग का मामला है. सिमरी बख्तियारपुर स्टेशन पहुंचने से पूर्व इस ट्रेन का चेन पुलिंग किया गया था और प्रॉपर पुलिंग नहीं होने से कभी-कभी ब्रेक बाइंडिंग हो जाती है जिससे आग की संभावना रहती है और यही बात सिमरी बख्तियारपुर स्टेशन पर ट्रेन में लगी आग मामले में हुआ है. हमलोग इस घटना की जांच कर रहे हैं. जांच के बाद ही सही वजह का पता चल पाएगा. फिलहाल, ट्रेन में लगी आग पर काबू पाते हुए रेलवे ने ट्रेन को सहरसा के लिए रवाना कर दिया. लेकिन, ट्रेन में अचानक लगी आग ने रेलवे की न सिर्फ कलई खोल दी बल्कि एक बड़ा हादसा टल गया.

सहरसा से नीरज कुमार की रिपोर्ट