Daesh News

इन 4 राज्यों में भी होगा जातिगत गणना, राहुल गांधी का ऐलान

बिहार में महागठबंधन सरकार द्वारा जातीय सर्वे कराना और उसकी रिपोर्ट जारी करने के बाद पूरे देश में ही इसे लेकर विपक्ष माहौल बनाने की कोशिश कर रहा है और अब कांग्रेस ने अपनी सत्ता वाले सभी राज्यों में जातीय जनगणना कराने का ऐलान कर दिया है. राहुल गांधी ने सोमवार को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के बाद इसका ऐलान किया. राहुल गांधी ने कहा कि पूरा देश आज जातीय जनगणना चाहता है. कर्नाटक के CM सिद्धारमैया, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को बगल में बिठाकर राहुल गांधी ने कहा कि हम अपनी सत्ता वाले सभी राज्यों में जातीय जनगणना कराएंगे. 

कांग्रेस ने चल दिया OBC कार्ड  


राहुल गांधी ने कहा कि हमारे 4 मुख्यमंत्री हैं, उनमें से 3 OBC वर्ग के हैं. भाजपा के 10 मुख्यमंत्री हैं, जिनमें से एक ही OBC है. वह OBC CM भी कुछ दिन बाद नहीं रह जाएंगे. मैंने संसद में उदाहरण दिया कि देश के 90 सचिवों में से तीन ही OBC वर्ग के हैं. इसे लेकर उन्होंने कुछ भी नहीं कहा. इससे साफ था कि नरेंद्र मोदी इस बात पर सहमत हैं कि देश में जिनकी आबादी 50 फीसदी के करीब है, उनकी सत्ता में भागीदारी न के बराबर हो. उनका काम यह रहा है कि OBC समुदाय का ध्यान भटकाया जाए. 

राहुल गांधी ने साफ कहा कि हम कर्नाटक, राजस्थान, छत्तीसगढ़, और हिमाचल प्रदेश में जातीय जनगणना कराएंगे. इसके अलावा जिन राज्यों में हमारी सरकार आएगी, उनमें भी ऐसा फैसला लेंगे. PM नरेंद्र मोदी की ओर से हिंदू समाज को बांटने के आरोप पर राहुल ने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि समाज का एक्सरे होना चाहिए. यदि किसी को चोट लगती है तो उसकी पूरी जानकारी के लिए हम एक्सरे कराते हैं. उन्होंने कहा कि मैं इस बात पर हैरान हूं कि PM एक्सरे से क्यों डर रहे हैं. वह इससे लोगों का ध्यान क्यों भटकाना चाहते हैं. 

कांग्रेस सांसद ने कहा कि हम देश के बहुसंख्यक लोगों को उनका हक दिलाना चाहते हैं. हम गरीबों को उनकी हिस्सेदारी दिलाएंगे. राहुल गांधी ने कहा कि जातीय सर्वे के बाद हम आर्थिक सर्वे भी कराएंगे. गौरतलब है कि PM मोदी ने पिछले दिनों चुनावी जनसभा में कहा था कि कांग्रेस हिंदू समाज को बांटना चाहती है. उन्होंने कहा था कि आज आबादी के अनुसार हक की बात हो रही है तो क्या हिंदू समाज को आगे बढ़कर अपना हक लेना चाहिए. यदि ऐसा ही है तो फिर अल्पसंख्यकों को क्या होगा.