Daesh News

वर्ल्ड कप 2023 : भारत का दबदबा, रोहित का रोल कितना बड़ा ?

ICC वर्ल्ड कप में टीम इंडिया गजब का प्रदर्शन कर रही है. गजब का दबदबा दिख रहा है टीम का .  भारत के क्रिकेट फैंस और एक्सपर्ट तो टीम के लाजवाब प्रदर्शन के बाद ख़ुशी से गदगद हैं, दूसरी तरफ दूसरे देशों के क्रिकेट फैंस भी टीम इंडिया के खिलाड़ियों और पेर्फोर्मस के दाद दे रहे हैं, एक ने तो यहां तक कह दिया कि जिस तरह से टीम इंडिया खेल रही है, ICC वालों को उन्हें विश्व कप दे देना चाहिए. लेकिन आखिर टीम इंडिया कैसे इतना बढ़िया खेल रही है. बैटिंग से लेकर बॉलिंग और बॉलिंग से लेकर फील्डिंग तक. चाहे तेज गेंदबाज हों या फिर स्पिनर्स चाहे टॉप ऑर्डर बैटिंग हो या मिडिल ऑर्डर या फिर लोअर मिडिल ऑर्डर. हर मोर्चों पर टीम इंडिया का दबदबा दिख रहा है. तारीफ़ सब की हो रही है और सब ने बेहतरीन प्रदर्शन किया भी है लेकिन एक शक्श है, जो अलग ही माइंड सेट में है. वो कोई और नहीं बल्कि टीम का कप्तान ही है. रोहित शर्मा. 

भारतीय टीम के इस डोमिनेंट परफॉरमेंस में टीम के कप्तान रोहित शर्मा का भी बहुत बड़ा योगदान है. एक बल्लेबाज अगर टीम का कप्तान हो, तो जिम्मेदारी बढ़ जाती है. अक्सर होता क्या है . कि कप्तानी का प्रेशर उसकी बल्लेबाजी पर असर डालने लगता है. और खासकर जब आप भारत देश के कप्तान हों तो ये 100 गुना बढ़ जाता है. रोहित शर्मा ने लगता है इस पेशर को हथियार बनाया हो. वो अपनी बैटिंग को एन्जॉय कर रहे हैं, वो आज में जी रहे हैं . वो एक-एक मैच के बारे में सोच रहे हैं ना कि टूर्नामेंट का न सेमीफाइनल का न फाइनल का . और शायद यही वजह है कि भारतीय टीम हर दिन ,जिस दिन उनका मैच होता है , मैदान पर कीर्तिमान रच रही है. 

रविवार को भारतीय टीम ने उस साउथ अफ़्रीकी टीम को 243 रनों से हराया है, जिसने टूर्नामेंट में 400 से अधिक रन बनाए हैं. उनके सलामी बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक, जो टूर्नामेंट के टॉप रन मेकर हैं. उस अफ़्रीकी बैटिंग लाइन अप को भारतीय टीम ने तोड़ कर रख दिया, जिसमें डीकॉक, बवुमा, रासी वेन डूर डूसेन, मार्क्रम, क्लासेन और डेविड मिलर जैसे वर्ल्ड क्लास बैटर हैं. इस टूर्नामेंट में भारत की बल्लेबाजी से अधिक चर्चा गेंदबाजी की हो रही है और हो भी क्यों न .भारतीय टीम तो हमेशा से बल्लेबाजी के लिए ही जानी जाती रही है.  बुमराह, सिराज और शमी की तिकड़ी को इस वक्त विश्व की सर्वश्रेष्ठ और सबसे खतरनाक बॉलिंग लाइन अप कहा जा रहा है.. लेकिन ये सब हुआ कैसे ?

इस वर्ल्ड कप में टीम इंडिया फियरलेस क्रिकेट खेल रही है , क्योंकि कप्तान रोहित शर्मा फियरलेस हैं . जैसा हमने आपको पहले बताया कि रोहित अपने खेल को एन्जॉय कर रहे हैं . बल्लेबाज-कप्तान के लिए सबसे जरुरी होता है वो बल्ले से टीम के लिए योगदान दे. रोहित का बल्ला आग उगल रहा है .कप्तान रोहित शर्मा के बल्ले से भले ही बहुत सारी बड़ी पारी न निकली हो लेकिन रोहित क्या करते हैं. वो पारी का आगाज करते हैं और आते ही विपक्षी गेंदबाजों पर धावा बोल देते हैं. वह शुरुआती ओवरों में ही विरोधी गेंदबाजों को बैकफुट पर धकेल देते हैं. रविवार को कोलकाता की पिच पर, जहां शुरुआत में ही आकर शॉट लगाना उतना आसान नहीं रहता .रोहित ने एकतरफा बैटिंग की. 24 गेंदों पर 40 रन ठोक डाले. रोहित ने इस दौरान छह चौके और दो छक्के लगाए. रोहित की वजह से विराट कोहली और श्रेयस अय्यर को टिकने का समय मिला. रोहित ने इस दौरान कई वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़े और कुछ वर्ल्ड रिकॉर्ड को आने वाले मैचों में तोड़ेंगे. विराट ने तो महान सचिन तेंदुलकर के 49 शतकों के रिकॉर्ड की बराबरी की लेकिन इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं रोहित शर्मा के रिकॉर्ड की.

रोहित ने इस वर्ल्ड कप में अबतक 442 रन बनाए हैं . वर्ल्ड कप के एक एडिशन में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले कप्तान सौरव गांगुली हैं. गांगुली ने 2003 वर्ल्ड कप में बतौर कप्तान 465 रन बनाए थे, वहीं विराट कोहली ने 2019 वर्ल्ड कप में 443 रन बनाए थे. रोहित आने वाले मैचों में इन दोनों का रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं. अभी कम से कम भारत और 2 मैच खेलने हैं. रोहित अगर सिर्फ 2 रन और बनाते हैं तो विराट के रिकॉर्ड को तोड़ देंगे और अगर 24 रन और बनाते हैं तो गांगुली के भी रिकॉर्ड को तोड़ देंगे. 

कप्तान के तौर पर वर्ल्ड कप में भारत की ओर से सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड मोहम्मद अजहरुद्दीन के नाम दर्ज है... अजहर ने 1992 से लेकर 1999 वर्ल्ड कप के बीच कुल 636 रन बनाए हैं वहीं महेंद्र सिंह धोनी ने 2011 और 2015 वर्ल्ड कप मिलाकर भारत की कप्तानी करते हुए 478 रन बनाए थे. 

वहीं रोहित शर्मा ने एक खास मामले में एबी डिविलियर्स की बराबरी कर ली है. एक कैलेंडर इयर में सबसे ज्यादा वनडे इंटरनेशनल छक्के लगाने के मामले में रोहित ने ABD की बराबरी कर ली है. साउथ अफ्रीका के महान एबी डिविलियर्स ने 2015 कैलेंडर इयर में 58 छक्के लगाए थे, रोहित ने उनकी बराबरी कर ली है और अब अगर रोहित के बल्ले से एक और छक्का निकलता है तो वो डिविलियर्स के रिकॉर्ड को ध्वस्त कर देंगे. 

वनडे इंटरनेशनल में सबसे ज्यादा छक्के लगाने के मामले में रोहित शर्मा तीसरे नंबर पर हैं. पाकिस्तान के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज शहीद अफरीदी 351 छक्कों के साथ टॉप पर हैं, दूसरे नंबर पर क्रिस गेल हैं, जिन्होंने कुल 331 छक्के लगाए हैं. रोहित ने 314 छक्के लगाए हैं . जिस फॉर्म में रोहित शर्मा हैं लगता है इसी वर्ल्ड कप में वो क्रिस गेल को पीछे छोड़ देंगे. 

रोहित शर्मा दुनिया के पहले ऐसे कप्तान बन गए हैं, जिन्होंने 100 या इससे ज्यादा मैचों में कप्तानी करते हुए सबसे ज्यादा फीसदी मैचों में जीत हासिल की है. रोहित ने 102 मैचों में कप्तानी की है और 76 में टीम ने जीत दर्ज की है. इतना अच्छा विनिंग परसेंटेज दुनिया के किसी अन्य कप्तान का नहीं है. रोहित से पहले यह रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज कप्तान रिकी पोंटिंग के नाम दर्ज था, उन्होंने 70 फीसदी मैच जीते थे.