Daesh News

बिहार में सियासी अटकलों के बीच आया सम्राट चौधरी का बयान, बैठक में क्या-क्या हुई चर्चा ?

बिहार की राजनीति को लेकर फिलहाल चर्चाओं और अटकलों का बाजार गर्म है. एक के बाद एक कई तरह की गतिविधियां बिहार की सियासत में इन दिनों देखने के लिए मिल रही है. 25 जनवरी को ही दिल्ली में बीजेपी के तमाम बड़े नेताओं की बैठक हुई. इस बैठक में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह, विनोद तावड़े, सुशील मोदी, विजय सिन्हा, बिहार के संगठन मंत्री भिखु भाई दलसानिया, पूर्व डिप्टी सीएम रेणु देवी, बीजेपी के बिहार झारखंड के क्षेत्रीय संगठन मंत्री नागेंद्र मौजूद थे. बैठक को लेकर कयास लगाए जा रहे थे कि, बिहार की सियासी हलचल को लेकर ही चर्चा हुई.  

क्या कहा सम्राट चौधरी ने ? 

लेकिन, इन कयासों को लेकर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी ने कुछ और ही बयान दे दिया है. बैठक के बाद नीतीश कुमार को लेकर बातचीत से सम्राट चौधरी ने इनकार किया. उन्होंने कहा, ''लोकसभा की तैयारी को लेकर चर्चा हुई है. नीतीश कुमार को लेकर कोई बात नहीं हुई है.'' वहीं नेता प्रतिपक्ष विजय सिन्हा ने भी कहा कि नीतीश कुमार को लेकर कोई बात नहीं हुई. इधर, दिल्ली में बैठक के बीच रात के करीब 11 बजे बीजेपी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय ने पटना में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम के मुखिया जीतन राम मांझी से मुलाकात की.

सार्वजनिक तौर पर जेडीयू कर रही इनकार

हालांकि, जेडीयू इससे सार्वजनिक तौर पर इनकार करती रही है. गुरुवार को ही केसी त्यागी ने कहा कि इंडिया गठबंधन में सभी सलामत है. इस बीच नीतीश कुमार के बीजेपी से गठजोड़ करने को लेकर अटकलें लगाई जा रही है. बता दें कि, बीजेपी नीतीश कुमार को अपने पाले में करने की इच्छुक दिख रही है. खुद केंद्रीय गृह मंत्री अमित अमित शाह ने हाल में एक इंटरव्यू में नीतीश कुमार के बीजेपी खेमे के साथ जुड़ने की संभावना के संकेत दिए थे. तो वहीं, दूसरी ओर नीतीश कुमार ने भी खुले मंच से परिवारवाद पर हमला बोला था. जिसके बाद से कयासों का सिलसिला लगातार जारी है.