Daesh News

बिहार के इस स्कूल में टीचर के आने पर... लिपट-लिपट कर रो पड़ीं छात्राएं, वजह कर देगी हैरान!

छपरा. सारण की एक शिक्षिका इन दिनों सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है. वजह तो छोटी सी है, लेकिन इस घटना का आशय बहुत बड़ा है. इस घटना में प्रेम और अपनापन का ऐसा भाव है कि देखने वाले भी भावुक हो जा रहे हैं. दरअसल, शिक्षिका रेणु कुमारी बीमारी से ठीक होकर लंबे समय के बाद स्कूल पहुंची तो छात्राएं अपनी प्रिय शिक्षिका को देख भावुक हो गईं.

छात्राओं के आंसू नहीं रुक पा रहे थे. छात्राएं शिक्षिका रेणु कुमारी से लिपट-लिपट कर रो रही थीं. यह बेहद ही भावुक कर देने वाला पल था. स्कूल की ही अन्य शिक्षिका भी हैरान थी. क्योंकि अमूमन ऐसा दृश्य तब दिखता है जब कोई प्रिय शिक्षक स्कूल छोड़कर जाता है, लेकिन यहां शिक्षिका के लौटने पर छात्राएं रो रही थीं. इसका वीडियो वहां मौजूद शिक्षिकाओं ने बनाकर रेणु कुमारी की बेटी को भेज दिया.

बेटी ने वीडियो किया वायरल

यह वाकया सारण के मध्य विद्यालय हरपुर का है. इस स्कूल की शिक्षिका रेणु कुमारी को टाइफाइड हो गया था. वह लंबे समय से स्कूल नहीं जा पा रही थी. ठीक होने के बाद जब शिक्षिका स्कूल पहुंचीं तो छात्राएं उन्हें देखकर भावुक हो गईं. शिक्षिका रेणु कुमारी की बेटी शालू प्रिया ने इस क्षण का वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया, जो तेजी से वायरल हो रहा है. सोशल मीडिया पर गुरु-शिष्य के बीच इस प्रकार का प्रेम देखकर लोग प्रशंसा भी कर रहे हैं.

हो गया था टाइफाइड

शिक्षिका रेणु कुमारी ने बताया कि टाइफाइड हो जाने की वजह से वह स्कूल नहीं आ पा रही थी. बीमारी ठीक हुई तो स्कूल पहुंची. हालांकि, रास्ते में ही फिर से तबीयत बिगड़ गई. चक्कर आने की वजह से कुर्सी पर बैठ गईं. फिर भी प्रार्थना सभा में शामिल हुईं, उसके बाद जब अपने क्लास में पहुंची तो बच्चे उनके बारे में पूछने लगे तो बताया कि अब वह ठीक हैं.

लंबे समय बाद शिक्षिका देख रोने लगीं छात्राएं

शिक्षिका रेणु कुमारी ने बताया कि छात्र-छात्राएं यहीं तक नहीं रुके और कहने लगे कि आप काफी दुबली हो गई हैं. यह कहकर छात्राएं भावुक हो गईं और लिपटकर रोने लगीं. इसके बाद वह सभी को समझने लगीं. इसी दौरान सहयोगी शिक्षिका ने वीडियो बना लिया और बेटी को भेज दिया. बेटी के सोशल मीडिया पर डालते ही वीडियो वायरल हो गया. बताया कि स्कूल के बच्चों के साथ एक दोस्त और गुरु माता जैसा व्यवहार करती हैं, जिसके चलते बच्चों का काफी लगाव है.