Daesh News

मिल गई शिक्षकों को एक और जिम्मेदारी, केके पाठक ने कर दिया है ऐलान

शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक लगातार फुल फॉर्म में हैं. एक के बाद एक वे बिहार के तमाम सरकारी स्कूलों का दौरा कर रहे हैं और इसके साथ ही यदि उन्हें कहीं भी किसी भी तरह की अनिश्चितता दिखती है तो वे एक्शन भी ले रहे हैं. बात कर लें, उनके फरमानों की तो इसे लेकर वे आए दिन सुर्खियों में रहते हैं. इस बीच उन्होंने एक बार फिर नया फरमान जारी कर दिया है, जिसके कारण वे सुर्खियों में आ गए हैं. दरअसल, शिक्षकों को एक और नई जिम्मेदारी दे दी गई है. उनके काम को और बढा दिया गया है. खबर है कि, अब से हर एक शनिवार को स्कूलों में पैरेंट्स-टीचर मीटिंग होगी.     

छात्रों से भी की बातचीत 

जानकारी के मुताबिक, यह आदेश शुक्रवार को शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक ने विपिन इंटर स्कूल का निरीक्षण करने के दौरान दिया. बताया जा रहा है कि, इस दौरान केके पाठक ने स्कूलों का निरीक्षण करने के साथ ही बच्चों को दिशा-निर्देश भी दिया. केके पाठक ने छात्रों से कहा कि, पांच बजे तक रुक कर विशेष कक्षा में पढ़ाई कर मैट्रिक-इंटर परीक्षा की तैयारी करें. दक्ष कक्षा से छात्रों को फायदा होगा. केके पाठक ने इस दौरान छात्रों से स्कूल से जुड़ी कई तरह की जानकारियां भी ली. इसके अलावे स्कूल के प्रिंसिपल से भी बातचीत कर कई तरह की जानकारियां ली. 

स्कूलों में बनी रही हड़कंप की स्थिती

बता दें कि, बेतिया दौरे को लेकर शिक्षा महकमे से लेकर जिलेभर के स्कूलों में हड़कंप की स्थिति रही उन्होंने कंप्यूटर और प्रैक्टिकल लैब, साइकिल स्टैंड के साथ कक्षाओं का भी जायजा लिया. इसके बाद वे कुमारबाग स्थित डायट पहुंचे, जहां प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे शिक्षकों से बात की. खाने के मेनू और स्टॉल को देखा. उन्होंने लौरिया और योगापट्टी के स्कूलों का भी जायजा लिया. खैर, इस निरीक्षण के दौरान उन्होंने शिक्षकों के वर्क लोड को यूं कहे तो बढा दिया गया है. अब सरकारी स्कूलों में हर एक शनिवार को स्कूलों में पैरेंट्स-टीचर मीटिंग होगी.