Daesh News

तेज प्रताप पिता लालू की 'कर्मभूमि' से लड़ सकते हैं चुनाव, बांसुरी बजाकर युवाओं को दी ये खास नसीहत

छपरा. राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव अपने पिता की कर्मभूमि सारण से 2024 में होने वाला आम चुनाव लड़ सकते हैं. यह बात खुद तेज प्रताप ने कही है. तेज प्रताप यादव फिलहाल बिहार सरकार में वन एवं पर्यावरण मंत्री हैं. उनका कहना है कि अगर जनता की डिमांड हुई तो वह सारण से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि पब्लिक की डिमांड ही लोगों को नेता बना देती है.

बता दें, सारण से ही लालू यादव पहली बार लोकसभा का चुनाव जीतकर सांसद बने थे. दरअसल, तेज प्रताप यादव सोमवार 30 अक्टूबर को छपरा में एक धार्मिक कार्यक्रम 'भरत मिलाप' में शामिल हुए थे. समारोह के मंच पर बांसुरी बजाकर तेज प्रताप यादव ने युवाओं को रामायण पढ़ने की नसीहत दी. तेज प्रताप यादव ने कहा कि टीवी और फिल्म वालों ने रामायण को वल्गर बना दिया है, लेकिन असली रामायण संपूर्ण रामायण में निहित है, जिसे सभी को पढ़ना चाहिए. रामायण का हर एक चरित्र लोगों को नसीहत देने वाला है.

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंत्री तेज प्रताप यादव ने कहा कि भगवान राम का चरित्र हम सभी के लिए प्रेरणादायी है. आज के नौजवानों को वाल्मीकि और तुलसीदास की ओर से लिखित रामायण का अध्ययन करना चाहिए. युवाओं को पार्को के स्थान पर अयोध्या का भ्रमण करना चाहिए.

बता दें, इन दिनों लालू परिवार का पूरा प्रेम सनातन संस्कृति पर फोकस नजर आ रहा है. माना जा रहा है यह राजनीतिक स्टंट है. हिंदू वोटरों को साधने की कोशिश राजद की तरफ से की जा रही है. हालांकि तेज प्रताप का मन भक्ति में ज्यादा लगता है लेकिन, उनकी पार्टी के नेता प्रो चंद्रशेखर रामायण को जहर बताते हैं, वहीं तेज प्रताप रामायण को पढ़ने की सलाह दे रहे हैं.