Daesh News

तेजस्वी ने दे डाली चेतावनी, 'बिहारियों का अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगे', दयानिधि मारन को दी नसीहत

बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने तमिलनाडु में सत्तारूढ़ डीएमके पार्टी के सांसद दयानिधि मारन को बिहार और यूपी के लोगों पर दिए विवादित बयान को लेकर नसीहत दी है. डीएमके सांसद दयानिधि मारन का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसे लेकर बिहार की सियासत भी गरमाई हुई है. 

दरअसल, एक कार्यक्रम में सांसद मारन ने कहा कि यूपी और बिहार से हिंदी भाषी लोग तमिलनाडु आते हैं और सड़कें तथा शौचालय साफ करते हैं. उनके इस बयान की हर तरफ निंदा की जा रही है. वहीं तेजस्वी यादव ने मीडिया से बातचीत के क्रम में ऐसे बयानों की निंदा की है. साथ ही हिंदी भाषी प्रवासियों के ऊपर गलत टिप्पणी करने से बचने की भी नसीहत नेताओं को दी है.

तेजस्वी यादव ने डीएमके सांसद के बयान की निंदा की

तमिलनाडु में डीएमके पार्टी के सांसद दयानिधि मारन के द्वारा हिंदी भाषी लोगों को लेकर विवादित टिप्पणी किए जाने पर तेजस्वी यादव भी नाराज हैं. उन्होंने मीडिया से बातचीत के क्रम में इससे जुड़े सवाल पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि डीएमके पार्टी समाजिक न्याय में विश्वास रखती है. अगर उनके दल के कोई भी नेता अगर बिहार और यूपी के लोगों के लिए कुछ बोले हैं तो ये निंदा करने वाली बात है. इससे हमलोग सहमत नहीं हैं. तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार और यूपी के जो मजदूर हैं, उनकी मांग पूरे देश में उठती है. अगर वो ना जाएं तो दूसरे राज्यों के लोगों की जिंदगी ठप्प हो जाएगी. उन्हें यह समझना चाहिए. लेकिन अगर ऐसा कुछ बयान आया है तो उसकी निंदा करते हैं.

बिहारियों पर बयान देने वालों को नसीहत

वहीं इस प्रकरण पर बोलते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि अगर वो ये बात कहते हैं कि कुछ विशेष जाति के लोग ही नाला साफ कर रहे हैं तो ये एक बात होती कि एक ही जाति विशेष के ही लोग क्यों नाला साफ कर रहे हैं. लेकिन अगर उनका कहना यह है कि बिहार यूपी के लोग आकर यहां नाला या कुछ और साफ करते हैं तो ये निंदनीय है. तेजस्वी यादव ने नसीहत देते हुए यह भी कहा कि ऐसे बयान से दूसरे राज्य के नेताओं को बचना चाहिए. चाहे वो किसी दल के नेता हों. ये देश एक है. हम अपेक्षा करते हैं कि दूसरे राज्य के लोग बिहार-यूपी का भी सम्मान करें.

डीएमके नेता के विवादित बयान पर घमासान

बता दें कि डीएमके नेता के विवादित बयान से बिहार की भी राजनीति गरमाई हुई है. वहीं भाजपा, जदयू, राजद और कांग्रेस ने इसे एक सुर में गलत कहा और इसकी निंदा पार्टी के नेताओं ने की है. भाजपा के फायर ब्रांड नेता केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि दयानिधि मारन के बयान पर इंडिया गठबंधन के नेता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद स्पष्ट करें कि उनके सहयोगी दल को हिंन्दी भाषी बिहार वासियों से इतनी नफरत क्यों हैं. दयानिधि मारन ने कहा है कि बिहार के लोग सड़कें और शौचालय साफ करते हैं. सांसद दयानिधि मारन के बिहारियों को लेकर दिये गये बयान की भाजपा, जदयू और राजद ने तीखी आलोचना की है. इसके साथ ही इन सभी पार्टियों ने मारन को माफी मांगने के लिए कहा है.