Daesh News

भारत-कनाडा के बीच नहीं थम रहा विवाद, एस जयशंकर ने पश्चिमी देशों से किया बड़ा सवाल

भारत और कनाडा के बीच विवाद थमने का नहीं ले रहा है. निज्जर की हत्या के बाद लगातार यह मामला तूल पकड़ता जा रहा है. वहीं, इन तमाम विवादों के बीच भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पश्चिमी देशों से बड़ा सवाल कर दिया है. उन्होंने कहा कि, आज हमारे दूतावासों पर हमले हो रहे हैं. वहां तैनात हमारे अधिकारी धमकी झेल रहे हैं. उन्होंने पूछा कि, अगर किसी और देश के साथ ऐसा होता तो क्या होता ? एस जयशंकर ने यह भी कहा कि, 'आज हिंसा का माहौल है. डराने-धमकाने का माहौल है. हमारे दूतावास पर धुआं बम फेंके गए हैं. हमारे जो वाणिज्य दूतावास हैं, उनके सामने हिंसा हुई है. अधिकारियों और कर्मचारियों को निशाना बनाया गया है. उन्हें डराया गया है. पोस्टर लगाए गए हैं.'

'कनाडा में जो हो रहा, उसे उजागर करना जरूरी'

एस जयशंकर ने नसीहत देने वाले देशों से पूछा कि, 'मुझे बताएं, क्या आप इसे सामान्य मानते हैं ? अगर ऐसा किसी दूसरे देश के साथ हुआ होता तो वे इस पर क्या प्रतिक्रिया देंगे ?' विदेश मंत्री ने आगे यह भी कहा कि, 'कनाडा में जो कुछ हो रहा है उसे सामान्य नहीं बनाना चाहिए. मुझे लगता है कि, वहां जो हो रहा है उसे उजागर करना जरूरी है.' वहीं, वीजा के सवाल पर विदेश मंत्री ने कहा कि, 'अभी ऐसा माहौल है जहां हमारे दूतावास, हमारे उच्चायुक्त, हमारे वाणिज्य दूतावास पर एक तरह से दबाव है, उनके खिलाफ हिंसा का प्रचार हो रहा है. ऐसे माहौल में वे वीजा का काम कैसे निभा सकते हैं. ये कानून-व्यवस्था का विषय है.

'कनाडा के द्वारा इस्तेमाल किया गया शब्द आरोप'

वाशिंगटन डीसी में एस जयशंकर ने आगे कहा, 'मेरी समझ यह है कि कनाडा के द्वारा इस्तेमाल किया गया शब्द आरोप है. मैंने पहले ही इसका जवाब दे दिया है. मैंने हमेशा कहा है कि, अगर कोई जानकारी है तो हमें बताओ. ऐसा नहीं है कि किसी चीज को देखने के लिए हमारे दरवाजे बंद हैं. अगर किसी चीज को हमें दिखाने की आवश्यकता है, तो हम उसे देखने के लिए तैयार हैं. लेकिन, फिर हम कहीं न कहीं उम्मीद करते हैं कि वास्तव में देखने के लिए भी कुछ हो.' वहीं, रूस के साथ भारत के संबंध को लेकर कहा कि, रूस के साथ भारत के संबंध भले ही 'शानदार' न हों लेकिन दोनों के बीच रिश्ते स्थिर हैं.